छतीसगढ़ में 3000 जूनियर डाक्टर आज से हड़ताल पर, ओपीडी और इमरजेंसी सेवाएं होंगी प्रभावित

0
16

रायपुर। 3000 जूनियर डाक्टर गुरूवार से हड़ताल पर रहेंगे। एम्स की तर्ज पर जूनियर डाक्टर एसोसिएशन ने दोगुनी छात्रवृत्ति देने की मांग रखी है। सुबह आठ बजे से धरना-प्रदर्शन के जरिए जूनियर डाक्टर हड़ताल पर रहेंगे। जूनियर डाक्टरों का कहना है कि छत्तीसगढ़ के मुकाबले अन्य राज्यों में जूनियर डाक्टरों को अधिक छात्रवृत्ति मिल रही है। डाक्टरों की इस हड़ताल की वजह से अंबेडकर अस्पताल में व्यवस्था बिगड़ने की आशंका बनी हुई है। जूनियर डाक्‍टरों के हड़ताल पर जाने से अस्‍पताल की ओपीडी और इमरजेंसी सेवाएं प्रभावित होंगी।

जूनियर डाक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. प्रेम चौधरी, डा. अमन अग्रवाल, डा. मुरारी कुमार साहू, डा. आयुष वर्मा, डा. राम प्रसाद, डा. एम मनीष, डा. विपीन कुमार लहरे, डा. अविनाश कुशवाहा, डा. हिमांशु सिन्हा ने बताया कि शिष्यावृत्ति बढ़ाने की मांग को लेकर पिछले दो वर्षों से लगातार शासन से मांग कर रहे हैं। इस दौरान कई बार पत्राचार भी किया गया। लेकिन सिर्फ आश्वासन के अलावा कुछ नहीं हुआ। वहीं पिछले चार वर्षों से जूनियर डाक्टर के मानदेय में कोई वृद्धि नहीं हुई है। जूनियर डाक्टरों का कहना है कि अन्य राज्यों में छत्तीसगढ़ की तुलना में अधिक शिष्यावृत्ति मिल रही है। ऐसे में सरकार यहां भी शिष्यावृत्ति में बढ़ोतरी करे। डाक्टर प्रेम चौधरी, सचिव डाक्टर अमन अग्रवाल ने कहा कि जब तक शिष्यावृत्ति नहीं बढ़ाई जाती है, आंदोलन खत्म नहीं होगा।

वर्तमान में जूनियर डाक्टरों को मिल रही शिष्यावृत्ति

चिकित्सक – वर्तमान – मांग

इंटर्न – 12,000 – 23,872

स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष – 53,000 – 95,488

स्नातकोत्तर द्वितीय वर्ष – 56,000 – 98382

स्नातकोत्तर तृतीय वर्ष – 59,000 – 1,01,274

बांड वाले चिकित्सक – 55,000 – 1,14,552

मांगे पूरी हुई तो इतनी बढ़ेगी जूनियर डाक्टरों की शिष्यावृत्ति

चिकित्सक – बढ़ोतरी की राशि

इंटर्न – 11,272

स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष – 41,938

स्नातकोत्तर द्वितीय वर्ष – 41,682

स्नातकोत्तर तृतीय वर्ष – 42,054

बांड वाले चिकित्सक – 59,552

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here