Raigarh News : जमीन बटवारा के विवाद पर चाचा ने भतीजे को लकड़ी से मारा, गला घोंट कर किया भतीजे की हत्या

0
15

रायगढ़ टॉप न्यूज 25 जनवरी 2023। पुलिस चौकी रैरूमाखुद अंतर्गत सुगापारा में 20 जनवरी को गांव के सामारू मांझी (55 साल) ने जमीन बटवारा के विवाद पर अपने भतीजे सबल साय मांझी (35 साल) को लकड़ी का फाड़ी (लकड़ी का टुकड़ा) से मार कर चोट पहुंचाने के बाद प्लासि्टक रस्सी से गला घोंट कर दिया था । मामले में रैरूमा पुलिस हत्या का अपराध दर्ज कर आरोपी को आज गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है ।

22 जनवरी की रात चौकी प्रभारी रैरूमाखुर्द सहायक उप निरीक्षक अमृत मिंज को ग्राम रैरूमाखुर्द सुगापारा में हत्या की सूचना मिला । चौकी प्रभारी अपने स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे । जहां श्रीमती रूगबुगी मांझी पति स्व. नान्हु राम मांझी (उम्र 65) के घर पर उसके लड़के सबल साय मांझी 35 साल का शव पड़ा मिला । श्रीमति रूगबुगी बाई बताई कि पति के मृत्यु होने के बाद अपने लडका सबल साय मांझी, बहु और अपने दो नाती के साथ रहती है । दिनांक 20.01.2023 के सबुह ग्राम तिलडेगा गई थी । घर में बेटा, बहु एवं दोनों नाती लोग थे । दिनांक 22.01.2023 के करीब 2.00 बजे मोबाइल में सूचना मिला लडका सबल साय माझी को उसका चाचा समारू मांझी के द्वारा जमीन बंटवारा की बात को लेकर लकडी के फाडी से मारपीट कर हत्या कर दिया है । तब गांव आकर देखे, घर आंगन दरवाजा के पास खुन गिरा पडा था तथा घर अंदर लडका सबल साय मांझी मृत हालत में बरामदा में पडा हुआ था, रिपोर्ट पर मर्ग कायम कर पंचनामा कार्यवाही बाद कल आरोपी समारू मांझी पर हत्या का अपराध दर्ज किया गया ।


आज फरार आरोपी की पतासाजी में सुगापारा पुलिस टीम दबिश दी आरोपी समारू मांझी S/o स्व. पचासु मांझी उम्र 55 साल ग्राम रैरूमाखुर्द सुगापारा घर में छिपा हुआ था, जिसे हिरासत में लेकर पूछताछ में जमीन विवाद पर अपने भतीजे सबल साय को लकड़ी के फाड़ी से मारना जिससे सबल मूर्छित होने पर उसका प्लास्टिक की रस्सी से गला घोंटकर हत्या करना बताया। आरोपी के मेमोरंडम पर घटना में प्रयुक्त लकड़ी का फाड़ी, प्लास्टिक रस्सी और घटना समय पहने आरोपी के कपड़े बरामद किया गया है , जिसे चौकी प्रभारी रैरूमाखुर्द द्वारा विधिवत गिरफ्तार कर आज न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है । एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा के मार्गदर्शन पर आरोपी पतासाजी, गिरफ्तार में चौकी प्रभारी अमृत मिंज, प्रधान आरक्षक अनूप तिग्गा, आरक्षक अलेखसियुस एक्का, हेमलाल बरेठ की अहम भूमिका रही है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here