Raigarh News: धरमजगढ़ में करंट की चपेट में आने से हुई थी हाथी की मौत, जंगली सुअर के शिकार के लिये लगाया गया था करंट, एक संदेही हिरासत में

0
17

रायगढ़। रायगढ़ जिले के धरमजगढ़ थाना क्षेत्र में जंगली सूअर के शिकार के लिए जंगल मे बिछाए करंट प्रवाहित तार की चपेट में आने से फिर एक दंतैल हाथी की मौत होने की खबर आ रही है,धरमजयगढ़ वनमंडल के डीएफओ ने मौके का जायजा लेते हुए हाथी का पीएम और कफन दफन कराया है तो वही एक संदेही ग्रामीण को भी हिरासत में लिया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार धरमजयगढ़ वन परिक्षेत्र अंतर्गत आने वाले गेरसा बीट के बैगन झरिया के पास फिर एक हाथी की लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैलने से वन विभाग भी सकते में है, घटना की सूचना के बाद वन विभाग की टीम तत्काल मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में जुट गई।

पहले पहल तो दंतैल हाथी की मौत संदिग्ध लगी, लेकिन जब आसपास का बारीकी से निरीक्षण किया गया तो असलियत सामने आ गई यहाँ कुछ लोगों ने जंगली सूअर के शिकार के लिए जंगल में करंट प्रवाहित तार का जाल बिछा रखा था, जिसमे अपने झुंड से भटका एक हांथी बैगीन झरिया जंगल की तरफ आया तो वह करंट प्रवाहित तार की चपेट में आ गया और अपनी जान गवां बैठा, इधर हांथी की मौत सुनकर हरकत में आई वन अमले का मुखिया वनमंडल अधिकारी अभिषेक जोगावत व वन महकमे के कर्मियों ने मौके पर ही पोस्टमार्टम की कार्रवाई के बाद विशालकाय शव को दफना दिया, फिलहाल जांच पड़ताल में एक ग्रामीण की संलिप्ता का शक होने पर पुलिस उसे अपने शिकंजे में कसते हुए पूछताछ कर रही है।

क्या कहते हैं अधिकारी
इस संबंध धरमजयगढ़ एसडीओपी ने बताया कि गेरसा बीट में एक दंतैल हाथी की लाश पाई गई गजराज की मृत्यु स्वाभाविक नहीं, बल्कि करंट से हुई है जंगली सूअर के शिकार के लिए शिकारियों द्वारा लगाए बिजली वायर के सम्पर्क में आने से हाथी की असमय जान गई है हाथी के शव का पोस्टमार्टम और कफन दफन के बाद एक संदेही से सख्त पूछताछ जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here