छत्तीसगढ़ की खेल अकादमियों ने रचे सफलता के कीर्तिमान, राज्य के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्पर्धाओं में बटोरे कई पदक

0
13

रायपुर. छत्तीसगढ़ में खेल गतिविधियों के विकास एवं खेल प्रतिभाओं के तराशने के लिए राज्य शासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों के अंतर्गत विगत चार वर्षों के दौरान स्थापित विभिन्न खेल अकादमियों ने सफलता के नये कीर्तिमान स्थापित किए हैं. इस दरम्यान आए कोरोना संकट के बावजूद राज्य में नयी खेल अकादमियों की स्थापना की तैयारियां एवं खेल-गतिविधियां निरंतर चलती रही हैं.

चार साल पहले जब राज्य में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में नयी सरकार बनी तब खेल-कूद के क्षेत्र में अपनी प्राथमिकताएं तय करने हुए शासन ने राज्य में खेल संस्कृति को पुनर्जीवित करते हुए आगे बढ़ाने का संकल्प लिया था. मुख्यमंत्री ने इसके लिए सभी तरह की विश्वस्तरीय अधोसंरचना के निर्माण का वादा किया था. कोरोना संकट गहराने के ठीक पहले वर्ष 2019 के बाद रायपुर में गैर आवासीय फुटबॉल बालिका अकादमी और संकट छंटने के बाद 2021 में गैर आवासीय एथलेटिक अकादमी प्रारंभ कर दी गई. वर्ष 2022 में बिलासपुर आवासीय अकादमी/एक्सिलेंस सेंटर और रायपुर की तीरंदाजी आवासीय अकादमी का संचालन शुरू कर दिया गया.

वर्ष 2019 के बाद बिलासपुर में तीरंदाजी, हॉकी, एथलेटिक की आवासीय अकादमी/एक्सिलेंस सेंटर, 2021 में शिवतराई बिलासपुर में तीरंदाजी उपकेन्द्र, 2022 में बालिका कबड्डी अकादमी बिलासपुर और रायपुर में आवासीय तीरंदाजी अकादमी, गैरआवासीय फुटबॉल (बालिका) और गैर आवासीय एथलेटिक अकादमी प्रारंभ हुई. वर्ष 2019 के पूर्व राज्य में केवल 02 गैरआवासीय अकादमी हॉकी और तीरंदाजी की स्वीकृति थी, लेकिन इनका अकादमी के रूप में संचालन ना होकर केवल नियमित प्रशिक्षण केन्द्र के रूप में हो रहा था. गैर आवासीय हॉकी और तीरंदाजी अकादमी रायपुर के लिए वर्ष 2020 में निर्धारित चयन ट्रायल की प्रक्रिया पूरी कर नियमित रूप से अकादमी संचालन प्रारंभ हुआ.

अकादमी के खिलाड़ियों ने जीते कई पदक

वर्ष 2021 में शिवतराई तीरंदाजी उपकेन्द्र शुरू होने के बाद इस केन्द्र से कुबेर सिंह, विकास कुमार, संदीप, हेमंत, देवेन्द्र कुमार, पायल मरावी, तुलेश्वरी, आकाश राज, अजय कुमार का चयन विभिन्न नेशनल तीरंदाजी प्रतियोगिता के लिए राज्य के दल हुआ. इन खिलाड़ियों ने पदक भी हासिल किए. उपकेन्द्र की उपलब्धियों के कारण साई द्वारा इसे खेलो इंडिया सेंटर के रूप में मंजूरी भी दी गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here