कवर्धा जिले में दिल दहला देने वाली घटना.. पिता ने लगाई फांसी, फिर बेटे ने की खुदकुशी…दोनों की मौत बाद बेटी ने की सुसाइड की कोशिश, आसपास के लोगों ने किसी तरह बचाया

0
36

कवर्धा. छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक पिता ने फांसी लगाकर जान दे दी। उसे देखकर बेटा भी सदमे में आ गया और उसी फंदे पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है। इसके बाद बेटी ने भी आत्महत्या करने की कोशिश की। मगर उसे किसी तरह से बचा लिया गया है। मामला सहसपुर लोहारा थाना क्षेत्र है।

जानकारी के मुताबिक, बिरनपुर निवासी पंचराम निषाद खेती किसानी का काम करता था। मगर वो काफी दिनों से बीमार था। इस वजह से उसके घरवाले परेशान थे। मृतक पंचराम भी काफी परेशान रहा करता था। कहा जा रहा है कि इलाज के बाद भी उसकी तबीयत खराब ही रहती थी। उसका 17 साल का बेटा दयालु 12वीं का छात्र था।

घर पर अकेले थे पंचराम
बताया गया कि गुरुवार रात को पंचराम घर पर अकेले था। उसके घर के लोग कहीं बाहर गए थे। इसी दौरान उसने खुदकुशी कर ली। उधर जब उसकी 2 बेटियां और बेटा दयालु घर पहुंचे तो वे अपने पिता को फंदे पर लटका हुआ देखकर हैरान रह गए।

इसके बाद दोनों बेटियां आस-पास के लोगों को बुलाने के लिए गई थी। तभी दयालु ने भी उसी फंदे पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। दोनों लड़कियां जब वापस पहुंची तो उन्होंने भाई को भी उसे फंदे पर लटका हुआ देखा। ये देखकर दोनों बहनें जोर-जोर से रोने लगी। एक ने तो अपने आप को कमर में ही बंद कर लिया। वहीं आस-पास के लोग मौके पर पहुंच गए थे। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।

बाद में पंचराम की पत्नी भी घर पहुंची। फिर किसी तरह से कमरे में बंद बेटी को बाहर निकाला गया। वह भी फांसी लगाकर खुदकुशी करने की कोशिश कर रही थी। घटना के बाद से घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। शुक्रवार को शवों का पोस्टमार्टम कराया गया है। हालांकि अब तक ये पता नहीं चल सका है कि पंचराम को क्या बीमारी थी।

आस-पास रहते हैं 4 भाई
पंचराम और उसके बेटे की मौत से परिवार में कोई पुरुष नहीं बचा है। मां और उसकी दो बेटी हैं। मृतक पंचराम के 4 भाई हैं, जो आसपास ही रहते हैं। पीड़ित परिवार का जिम्मा अब मृतक के भाइयों पर है। इधर पूरे घटना की जांच अब पुलिस कर रही है।

न्यज साभार दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here