Raigarh News: राष्ट्र निर्माण में प्रदेश के यूवाओ की अहम भूमिका :- ओपी चौधरी… छग दूरदर्शन कार्यक्रम आप की बाते साक्षात्कार में ओपी चौधरी

0
21

रायगढ़ :- छत्तीसगढ़ दूरदर्शन द्वारा स्वामी विवेका नंद जी की जयंती राष्ट्रीय युवा दिवस पर आयोजित आप की बाते कार्यक्रम के तहत राष्ट्र निर्माण में छग के यूवाओ की भूमिका विषय पर यूथ आइकॉन प्रदेश भाजपा महामंत्री ओपी चौधरी साक्षात्कार में बतौर मुख्य अतिथि चर्चा में शामिल हुए l इस दौरान राकेश नैयर ने कहा कि छत्तीसगढ़ में यूवाओ के प्रेरणा स्त्रोत ओपी चौधरी सर्वाधिक चर्चित एवम जाना पहचाना चेहरा है l स्टूडियो चर्चा के दौरान राष्ट्र निर्माण में यूवाओ की भूमिका पर यूथ आइकॉन ओपी चौधरी ने विवेका नंद जयंती के दिन प्रदेश वासियों को जय जोहार करते हुए अपनी बाते रखी l राष्ट्रीय युवा दिवस के दिन देश प्रदेश के यूवाओ को शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा इतिहास मे यूवाओ के लिए सबसे बड़े प्रेरणा स्त्रोत विवेकानद जी है केवल 39 वर्ष की उम्र में उनका निधन हो गया और 100 साल बाद भी उनके विचार देश वासियों के लिए आज भी प्रासंगिक है l आज भी वे यूवाओ के प्रेरणा स्त्रोत है l किसी भी देश में परिवर्तन क्रांति एवम बदलाव के ध्वजवाहक युवा ही रहे है l आज पूरी दुनिया बूढ़ी हो रही l जापान की ओसत आयु 47 वर्ष यूरोप की ओसत आयु 46 वर्ष अमेरिका चाईना की ओसत आयु 42 वर्ष है जबकि इसके मुकाबले भारत देश की ओसत आयु केवल 29 वर्ष है.

दुनिया में जितने भी युवा है उसमे 20% भारत की हिस्सेदारी है अर्थात हर पांच युवा में एक भारतीय है l भारत देश में 65% आबादी 35 वर्ष से कम है पचास प्रतिशत आबादी 25 वर्ष से कम है l ओपी ने कहा दुनिया बूढ़ी हो रही है इसके मुकाबले भारत युवा देश हैं हमारी युवा आबादी देश को सुपर पॉवर बनाने की दिशा में क्या कदम उठाती है यह महत्वपूर्ण विषय है l बदलते वैश्विक परिवेश में न केवल राष्ट्र निर्माण में बल्कि भारत को विश्व गुरु बनने के दिशा में देश के यूवाओ भूमिका अहम रहेगी lचाहे राजनीति हो या शिक्षा हो या कला का क्षेत्र हो या फिर प्रशासनिक क्षेत्र सभी में यूवाओ की भूमिका सराहनीय होगी l प्रदेश के गठन के 23 बरस और नक्सल क्षेत्र में यूवाओ को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने हेतु ओपी चौधरी के स्तुत्य योगदान के परिपेक्ष्य में प्रदेश के यूवाओ की स्थिति के संदर्भ में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए ओपी चौधरी ने कहा छत्तीसगढ़ राज्य लंबे समय से उपेक्षित रहा l अमीर धरती के गरीब लोग का उल्लेख करते हुए भाजपा नेता ने कहा अटल जी ने छत्तीसगढ़ का पृथक गठन किया l बैलाडीला मे लौह अयस्क की सबसे सर्वश्रेष्ठ खदाने हैं l हमारे पास कोयले का अकूत भंडार है.

प्राकृतिक संपदा में हम देश में सबसे आगे है उसके बावजूद हम उपेक्षित रहें जब राज्य का गठन हुआ तो केवल एक मेडिकल कॉलेज था ये वो दौर था जब मैं स्वय स्कूली पढ़ाई से बाहर आ रहा था l इंजिनियरिंग कॉलेज की संख्या कम थी l कोई राष्ट्रीय स्तर का संस्थान नही था l लेकिन पृथक प्रदेश के गठन के बाद हमारे प्रदेश में इन क्षेत्रों में बड़े कदम बढ़ाए है l अब यहां आई आई टी आई आई एम एम्स ट्रिपल आईटी पत्रकारिता विश्वविद्यालय सिपेट संस्थान जैसी राष्ट्रीय स्तर के शिक्षण संस्थान है l प्रदेश के गठन के दौरान एक मेडिकल कॉलेज में केवल सौ सीटे हुआ करती थी.

आज दस मेडिकल कॉलेज मे ग्यारह सौ सीटे हो गई प्रदेश के युवाओं को भूमिका न केवल राष्ट्रीय बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ रही है l ट्रिपल आईटी में पचास प्रतिशत स्थानीय छात्र होते हैं पचास प्रतिशत बाहर के बच्चे होते है पहले प्रदेश से किसी का भी आई एस में चयन नही होता था 2005 में जब पहली बार मेरा चयन हुआ ले प्रदेश के गठन के बाद मैं पहला आई एस रहा l आज स्थिति है कि पूरे प्रदेश में आई एस बनने के लिए प्रतिस्पर्धी परीक्षाओ में होड़ लगी हुई हैं.

रायपुर में नालंदा परिसर में सबसे बड़ी लाइब्रेरी है जहां से बड़ी संख्या में युवा पढ़कर सफल हो रहे l राष्ट्र निर्माण में हमारे प्रदेश ने अहम भूमिका निभाई हैं उसके बाद भी शिक्षा के क्षेत्र में एक बड़ा गैप मौजूद हैं जैसे हम देश मे समानता की बात करते है तो शिक्षा मे समानता सबसे आवश्यक है एक बच्चा डीपीएस में पढ़ रहा दूसरा बच्चा सुदूर नक्सल प्रभावित बीजापुर दंतेवाड़ा के गांवों में पढ़ रहा l दोनो बच्चो के मध्य पढ़ाई के दौरान सुविधाओ का बड़ा अंतर है. लेकिन जब राजनीति व्यापार या प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के दौरान दौड़ लगाने की बात होती है तो दोनो के लिए एक ही मापदंड निर्धारित है l ये तो वही बात हुई सौ मीटर की दौड़ में एक बच्चे को अस्सी मीटर आगे खड़ा किया जाए कर दूसरे बच्चे को दो सौ मीटर पीछे खड़ा किया जाए l

समानता के साथ शिक्षा अधिकार की वकालत करते हुए ओपी चौधरी ने कहा आज इस दिशा में चिंतन की आवश्यकता है l दंतेवाड़ा कलेक्टर रहते हुए सन सिटी एजुकेशन सिटी लाईवली हुड कॉलेज बनाने का स्मरण कराते हुए छू लो आसमान तमन्ना जैसे बहुत से प्रोजेक्ट लाए गए जिससे नक्सल क्षेत्र में रहने वाले हमारे आदिवासी शिक्षा के क्षेत्र में एक बड़ी छलांग लगा सके l शिक्षा के क्षेत्र में एक जो बड़ा गैप है जिसे पाटना हर सरकार की पहली जिम्मेदारी है lशिक्षा के अलावा अन्य क्षेत्रों में यूवाओ के अंदर मौजूद संभावनाओं के बारे में चर्चा करते हुए ओपी ने कहा शिक्षा के अलावा खेल कला व्यापार में बहुत सी संभावनाएं है स्टार्ट अप स्टैंड अप जरिए केंद्र सरकार की योजनाएं के तहत यूवाओ को जॉब सीकर न बनाकर जॉब प्रोवाइडर बनाया जा रहा इस दिशा में बड़े बदलाव की आवश्यकता जताते हुए ओपी ने कहा शिक्षा से केवल नौकरी हासिल करने की मानसिकता से आगे सोचने की जरुरत है इस दिशा में यूवाओ को सोच ऊपर उठना होगा l परिवर्तन शील भारत के परिपेक्ष्य में न्यु इंडिया में बड़ी सभावनाए उभर कर सामने आ रही है l अमेरिका के 100 धनाढ्य लोगो को देखे तो उन्होंने ऐसा कुछ नया किया जिससे वे दुनिया के शीर्षस्थ लोगो की सूची में शामिल हो पाए l इनके माता पिता कोई बड़े सीमेंट या कोयले स्टील के बड़े व्यापारी नही थे उन्होंने कुछ नया किया l इसी तरह से देश के यूवाओ को कुछ नया करने के लिए प्रेरित करना होगा l इस तरह के बदलते भारत में युवा सामने आयेंगे l सरकारों की नीतियों पर यह निर्भर होगा कि ये युवा कैसे सामने आयेंगे
हमारी नीतियां अच्छी होगी तो हमारे छत्तीसगढ़ से भी ऐसे युवा सामने आयेंगे केंद्र सरकार ने इस दिशा में बड़े कदम उठाए है l लेकिन छत्तीसगढ़ में ऐसी नीतियों को बनाए जाने की आवश्यकता है l ओपी चौधरी ने खेल कला व रिसर्च के क्षेत्र में भी यूवाओ को अधिक सुविधाए देने की जरूरत भी जताई lप्रदेश के यूवाओ का खेती किसानी से जुड़ाव के विषय पर ओपी चौधरी ने कहा नौकरी सभी लोगो की प्राथमिकता होती है नौकरी में अपना भविष्य सुरक्षित करना चाहते है लेकिन बदलने भारत के अनुसार जो युवा समय परिस्थिति के अनुसार स्वय को ढालेगा या क्रांतिकारी निर्णय लेगा वह जीवन में उंचाईयो के आसमान को छुएगा l खेती को लेकर यूवाओ में आकर्षण कम ही है उसके बावजूद बहुत से ऐसे उदाहरण है जो खेती के क्षेत्र में बहुत ही लाभदाई है l रायगढ़ जिले के शिक्षा कर्मी तोष कुमार पटेल की मिशाल देते हुए ओपी ने कहा एक्सीडेंट की वजह से उनके पैर में रॉड लगी हुई है l उन्होंने दूसरो के खेत लीज में लेकर प्रोग्रेसिव खेती करते हुए लाखो रूपयो की आय अर्जित कर मिशाल पेश की l एक आदर्श मिशाल पेश करते हुए उन्होंने हिम्मत नही हारी l धान की खेती प्रदेश की पहचान है इसके बावजूद प्रोग्रेसिव खेती को अपनाए जाने की सलाह देते हुए कहा हम प्रोग्रेसिव उन्नत खेती के जरिए अधिक लाभ कमा सकते है l एक्सपोर्ट आधारित खेती पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता पर भी ओपी ने जोर दिया l प्रदेश के किसानो के मार्गदर्शन हेतु स्वय द्वारा केले की खेती किए जाने की जानकारी भी उन्होंने साझा की l साथ में नारियल चीकू भी लगाए जाने की जानकारी दी l इस खेती के जरिए वे छत्तीसगढ़ के युवा किसानो के सामने एक माडल प्रस्तुत करना चाहते है l इस तरह की खेती से आठ दस एकड़ में ही लाखो की कमाई की जा सकती है l खेती के क्षेत्र में भी बहुत से चैंपियंस पैदा हो रहे है l गांव के यूवाओ को सलाह देते हुए कहा कि सरकारी नौकरी सभी को नही मिल सकती बदलते भारत में सरकारी सेवाओं के तहत एक निश्चित भविष्य है.

सुनहरे भविष्य के नजरिए से खेती फिशरी को भी अपनाना चाहिए l यह निर्णय उनके जीवन मे बदलाव ला सकता है और समाज के लिए भी लाभकारी होगा l शिक्षा सहित केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओ के अलावा प्रदेश के यूवाओ के लिए सवाल पर संदेश देते हुए यूथ आइकॉन ओपी ने कहा जीवन का हर क्षेत्र में बेतहाशा प्रतिस्पर्धा है ऐसे समय में पहले से एवम सही समय में योजना बनाना अधिक आवश्यक है अंग्रेजो की गुलामी के बाद स्कूल कॉलेज की शिक्षा के बाद यूवाओ को यह नही मालूम होता था कि उन्हें पढ़ाई के बाद क्या करना है ?इस तरह से शर्मिंदगी से भरी पढ़ाई से बचने की सलाह दी l एक प्लान एक विजन के तहत अपने लक्ष्य को तय करके काम करना आवश्यक है l बारहवी की शिक्षा के पहले अपने कैरियर की प्लानिंग हो जानी चाहिए इसके अनुसार कोर्स अथवा विषय का चयन कर आगे की पढ़ाई करनी चाहिए l एक प्लान के साथ साथ दूसरे प्लान व तीसरा प्लान भी समय रहते बना लेना चाहिए l इसका आशय पहले प्लान को कमजोर करना नही बल्कि अपरिहार्य कारणों से पहला प्लान सफल नहीं होता दिखे तो दूसरे की प्लानिंग हमे सही दिशा की ओर ले जायेगी l नालंदा परिसर में युवा साल भर चौबीस घंटे अपने भविष्य को गढ़ने में लगे होते है l अपनी रुचि के अनुसार एडवांस योजना बनाने पर ओपी ने जोर दिया शिक्षा ही नही बल्कि व्यापार राजनीति खेती या अन्य क्षेत्रों में भी यही योजना बनाने की जरूरत है l असफलता से घबराने की बजाय यह चिंतन करे कि हमसे कही न कही चूक हुई है l ऐसे अनेकों मिशाल है कि असफलता ही सफलता का मार्ग खोलती है l इसके लिए धैर्य के साथ निरंतरता के साथ हमे अपने लक्ष्य में जुटे रहना है l असफलता जीवन के मोल से बढ़कर नही है जिंदगी में अपार सभावनाएं मौजूद है.

असफलता के दौरान आप सकारात्मक रहते है तो प्रदेश के युवा साथियों को बड़ी सफलता निश्चित मिलेगी l रक्षा के क्षेत्र में छत्तीशगढ़ के यूवाओ के राष्ट्र प्रहरी बनने की संभावनाओं के सवाल पर भाजपा नेता ओपी चौधरी नें कहा नांदगांव की वंशिका बहन ने रक्षा के क्षेत्र में सफलता हासिल की है हमारी बहने फाइटर प्लेन की पायलेट भी बन रही ये गर्व की बात है मोदी जी ने इस दिशा में बहुत तेजी से काम किए है प्रदेश से सेना का निर्धारित कोटा खाली होता था l 2014 से 2016 के दौरान जांजगीर कलेक्टर रहते हुए सेना भर्ती के बड़े अभियान का स्मरण कराते हुए उन्होंने कहा गांव गांव से युवा सेना मे भर्ती हेतु आगे आए l राष्ट्र सेवा से जोड़ने का यह एक बड़ा प्रयास था l दो सालो मे चार पांच सो यूवाओ का चयन भी किया l राष्ट्र सेवा के साथ केरियर चयन हेतु भी सेना को बेहतर विकल्प बताया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here