Raigarh News : दिव्यांग भतीजी की आबरू पर हाथ फिराया, कलयुगी बड़े बाप को 3 साल की जेल

0
19

रायगढ़ टॉप न्यूज 28 जनवरी। दिव्यांग और मनोरोगी भतीजी की आबरू पर हाथ फिराने के शर्मशार मामले में आरोप प्रमाणित होने पर फास्ट ट्रैक कोर्ट ने पीडि़ता के कलयुगी बड़े बाप को 3 बरस जेल में रहने की सजा सुनाई। साथ ही उसे डेढ़ हजार कठोर रूपये के अर्थदंड़ से दंडित भी किया है। बेटी समान भतीजी से अश्लील हरकत की यह घटना शहर के कोतरा रोड थाना क्षेत्र की है।

न्यायालय सूत्रों के मुताबिक जिला मुख्यालय से लगे ग्राम कोसमनारा बाबाधाम निवासी अघन लाल तुरी आत्मज स्वर्गीय तिमडू तुरी चौहान (45 साल) के छोटे भाई की 20 वर्षीया बेटी जन्म से शारीरिक रूप से कमजोर है। विगत 9 नवम्बर 2019 को दिव्यांग युवती की मां अपनी पड़ोस की चाची और चचेरे भाई को बेटी की देखरेख के लिए कहते हुए काम पर चली गई। शाम लगभग महिला वापस अपने घर गई और दिव्यांग बेटी को रोते देख वजह पूछा तो उसने बताया कि उसके बड़े पिता अघन लाल जबरन घर में घुस आया और पीडि़ता के कपड़े निकालते हुए अश्लील हरकतें की।

युवती ने यह भी बताया कि बड़े पिता की बदनीयती पूर्ण हरकत से वह जोर से चिल्लाने लगी तो वह भाग निकला। चूंकि, अघन लाल इसके पहले भी गंदी हरकतें कर चुका था, इसलिए अपनी दिव्यांग बेटी की आपबीती को सुन महिला ने इस बार पुलिस की मदद ली और थाने जाकर शिकायत दर्ज कराई। कोतरा रोड पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भादंवि की धारा 452, 354, 354 (ख) और लैगिंक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 10-10 के तहत आरोपी को गिरफ्तार कर केस डायरी न्यायालय में पेश किया।

फास्ट ट्रैक कोर्ट की विद्वान न्यायाधीश श्रीमती प्रतिभा वर्मा ने इस संवेदनशील प्रकरण से जुड़े पहलुओं और सबूतों के अलावे दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद आरोप सिद्ध होने पर अघन लाल तुरी को 3 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाते हुए 15 सौ रूपये अर्थदंड से भी दंडित किया है। नियत समय पर अर्थदंड चुकता नहीं होने पर मुल्जिम को 3 माह अतिरिक्त जेल में रहना होगा। इस मामले में शासन की तरफ से विशेष लोक अभियोजक मोहन सिंह ठाकुर ने पैरवी की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here