दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में चलाया जा रहा है “आपरेशन अमानत” अभियान, वर्ष 2022 में डेढ़ करोड़ रुपये मूल्य के सामान की रिकवरी कर उनके मालिको को सौपा गया

0
25

बिलासपुर। यात्रियों की सुविधा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की सर्वोच्च प्राथमिकता है । इसके लिए नई पहल के तहत विभिन्न अभियान चलाये जा रहे है । इसी में एक महत्वपूर्ण अभियान आपरेशन अमानत है, जो दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की रेलवे सुरक्षा बल द्वारा चलाई जा रही है । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे यात्रियों को सर्वश्रेष्ठ सेवाएं प्रदान करती है । उनकी यात्रा को सुविधाजनक, आरामदायक और सुरक्षित रेल सेवाएं देने के लिए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे हमेशा ही आवश्यक कदम उठाती है । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में रोजाना हजारों यात्री अपने सामान के साथ यात्रा करते हैं लेकिन कई बार या तो वे अपना सामान ट्रेन (Train) में ही भूल जाते हैं या फिर कई बार उनका सामान गुम हो जाता है । कई बार ट्रेनों में चढ़ने/ उतारने की जल्दबाज़ी में यात्रीगण अपना सामान चलती ट्रेनों, स्टेशनों में भूल जाते है । उनके छूटे सामान को पहुंचाने तथा गुम हुए सामानों की रिकवरी के लिए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में रेलवे सुरक्षा बल द्वारा यह अभियान चलाया जा रहा है ।

वर्ष 2022 में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की रेलवे सुरक्षा बल ने बिलासपुर, रायपुर तथा नागपुर में 968 यात्रियों के गुम हुए तथा छूटे हुए सामानों की रिकवरी कर उसे संबन्धित यात्रियों को सौपा । ये सामान लगभग डेढ़ करोड़ रुपये से भी अधिक मूल्य के थे । बिलासपुर, चांपा, कोरबा, उसलापुर, रायगढ़, ब्रजराजनगर, पेंड्रारोड, अनुपपुर, शहडोल, मानेंद्रगढ़, बिजुरी, अंबिकापुर, भाटापारा, तिल्दा-नेवरा, रायपुर, दुर्ग, भिलाई राजनांदगांव, डोंगरगढ़, गोंदिया, भंडारारोड, इतवारी, नैनपुर, छिंदवाड़ा, वडसा, नागभीड़, कांप्टी आदि रेल सुरक्षा बल पोस्ट ने इस अभियान में अपना उत्कृष्ट योगदान दिया है ।

ईमानदारी एवं सत्यनिष्ठा का सर्वोच्च उदाहरण प्रस्तुत करते हुए ट्रेन में पेट्रोलिङ्ग तथा स्टेशनों में गश्ती के दौरान रेल सुरक्षा बल तथा अन्य रेल कर्मियों ने यात्रियों के छूटे हुए सामानों को स्टेशन में तथा ट्रेनों में अधिकृत प्राधिकारियों के पास जमा किया । यात्रियों ने भी कई बार अन्य यात्रियों के छूटे हुए सामानों को ट्रेनों में टीटीई या रेल सुरक्षा बल के कर्मियों के पास सामान को सुपूर्द किया तथा काई बार सूचित किया । जिन यात्रियों का सामान गूम हो जाता है वे अपनी शिकायत ट्रेनों में टीटीई, रेल सुरक्षा बल या ट्रेन मैनेजर या स्टेशनों में स्टेशन मास्टर या संबन्धित रेल कर्मियों के पास अपनी शिकायत दर्ज कराते हैं । यही नहीं इसके लिए यात्री रेल मदद एप, हेल्पलाइन नंबर 139, टिवीटर या अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते है । शिकायत मिलने पर संबन्धित ट्रेनों, स्टेशनों तथा अन्य आरपीएफ़ पोस्ट में इसकी सूचना दी जाती है और संबन्धित प्राधिकार सामान को रिकवर करने के लिए जुट जाते हैं । आपरेशन अमानत के अंतर्गत रेलकर्मियों के समर्पित एवं सार्थक प्रयास का परिणाम है कि गत वर्ष 968 यात्रियों के लगभग डेढ़ करोड़ से अधिक के मूल्य के सामानों की वापसी सुनिश्चित हुई ।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे अपने यात्रियों की यात्रा को सुखद एवं आरामदायक बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत है । यात्रा के दौरान किसी भी प्रकार के व्यवधान उत्पन्न होने पर रेलकर्मी पूरी समर्पित भावना के साथ अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हैं । आपरेशन अमानत दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में एक अभियान के स्तर पर चलाया जा रहा है तथा यह आगे भी इसी भावना एवं ऊर्जा के साथ निरंतर जारी रहेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here