Raigarh News : ओ. पी. जिंदल विद्यालय में वार्षिकोत्सव में बिखरी इंद्रधनुषी छटा… ओ. पी. जिंदल विद्यालय ने अपने स्थापना के 27 वर्ष पूरे किये

0
56

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमती शालू जिंदल रहीं
विद्यालय के छात्रों द्वारा कार्यक्रम चतुरंग का मंचन किया गया
शास्त्रीय नृत्य ‘आनंद ध्वनि’, कार्यक्रम नृत्यों के संगम में छत्तीसगढ़, उड़ीसा, झारखंड और पश्चिम बंगाल लोकनृत्यों को बेहद ही खूबसूरती से प्रदर्शित किया

रायगढ़ टॉप न्यूज 5 जनवरी 2023 । 04 जनवरी 2023 की शाम ओ. पी. जिंदल विद्यालय रायगढ़ के लिये किसी यादगार पल से कम नहीं थी। ये शाम इसलिए भी खास थी कि विद्यालय ने अपने स्थापना के 27 वर्ष पूरे किये, कोरोना की वजह से यह कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया था। कार्यक्रम की सबसे खास बात यह रही कि इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमती शालू जिंदल जी (चेयरपरसन, जेएसपी फाउंडेशन एवं चांसलर, ओ. पी. जिंदल यूनिवर्सिटी, रायगढ़) एवं सब्यसाची बंद्योपाध्याय (कार्यपालक निदेशक, जेएसपी, रायगढ़) उपस्थित थे।











मुख्य अतिथि के आगमन पर विद्यालय के छात्रों द्वारा ड्रम एवं बैंड की धुन द्वारा उनका अभिनंदन किया एवं सम्पूर्ण विद्यालय परिवार इनका बेहद गर्मजोशी के साथ उनका स्वागत किया। कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुई। विद्यालय के छात्रों द्वारा गणमान्य अतिथियों का स्वागत पुष्प गुच्छों के साथ किया गया। अपने व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद भी श्रीमती जिंदल जी पूरे कार्यक्रम का भरपूर आनंद उठाया। अपने आशीर्वचन में उन्होंने विद्यालय के प्राचार्य, विद्यालय परिवार, विद्यालय प्रबंधन समिति, विद्यालय के समस्त कर्मचारियों, विद्यार्थियों और अभिभावकों का स्वागत करते हुए पूरे कार्यक्रम की मुक्त कंठ से प्रशंसा करते हुए सभी को शुभकामनाएं दीं।

विद्यालय के प्राचार्य आर. के. त्रिवेदी ने वर्षभर की उपलब्धियों से अवगत कराते हुए उपस्थित सभी गणमान्य अतिथियों एवं पाठकों का हृदय से अभिनंदन किया। जेएसपी के कार्यपालक निदेशक श्री सब्यसाची बंद्योपाध्याय जी ने मुक्त कंठ से समस्त कार्यक्रम की प्रशंसा की। इस कार्यक्रम के दौरान विद्यालय के उन सभी कर्मचारियों को भी सम्मानित किया गया जिन्होंने अपने जीवन के अमूल्य 20 वर्ष इस विद्यालय को दिये। साथ ही साथ इस विद्यालय के भूतपूर्व शाला नायक@नायिका को भी सम्मानित किया गया। विद्यालय के छात्रों द्वारा कार्यक्रम चतुरंग का मंचन किया गया ।

शास्त्रीय नृत्य ‘आनंद ध्वनि’, कार्यक्रम नृत्यों के संगम में छत्तीसगढ़, उड़ीसा, झारखंड और पश्चिम बंगाल लोकनृत्यों को बेहद ही खूबसूरती से प्रदर्शित किया गया । जीवन का एक शाश्वत तरीका ‘योग’ के माध्यम से दर्शाया गया। कार्यक्रम ‘उत्थान’, पश्चिमी नृत्य, देशभक्ति नृत्यों ने जमकर तालियां बटोरी। विद्यालय के शिक्षकों द्वारा भी नृत्य की विशेष प्रस्तुति दी गई। चित्रकला के शिक्षकों एवं छात्रों द्वारा ‘कला वेदिका’ आर्ट गैलेरी भी दर्शकों के लिए आकर्षण का केन्द्र थी। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय के वरिष्ठ शिक्षक श्री अश्विनी कुमार साहू द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया।

आर. के. त्रिवेदी
प्राचार्य













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here