जशपुरः अंधे कत्ल की गुत्थी को थाना फरसाबहार पुलिस ने चंद दिनों में सुलझाया

0
15

विगत दिनों थाना फरसाबहार क्षेत्र में मिले अज्ञात शव की पहचान आनंद राम पैंकरा निवासी बेस्कीमुड़ा लैलूंगा के रूप में हुई,
मृतक द्वारा अमर्यादित व्यवहार करने पर उसके ग्राम के 2 व्यक्तियों ने उसे मारकर हत्या कर साक्ष्य को छिपा दिया था,

जशपुर। दिनांक 20/01/2023 को ग्राम डुमरिया के सरपंच ने अन्य ग्रामीणों के साथ थाना फरसाबहार में उपस्थित आकर सूचना दिया कि उनके ग्राम के खटंगा नाला के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा है उसकी उम्र लगभग 30 साल का है। मृतक के माथे में गहरा चोंट है, सफेद रंग का शर्ट पहना है, काले रंग का पैंट पहना है, पैरों में जूता एवं नारंगी रंग का छिंटदार साड़ी गर्दन पर लपेटा हुआ है, उसके कुछ दूरी पर कुरकुरे का खाली पैकेट 03 नग, डिस्पोजल गिलास एवं पास में एक बड़ा पत्थर रखा है, जिसपर खून लगा हुआ है, उक्त सूचना पर तत्काल मौके पर जाकर मर्ग जाॅंच पंचनामा कार्यवाही में लिया गया। पी.एम. रिपोर्ट में डाॅक्टर द्वारा मृतक की मृत्यू हत्या करने से होना लेख किया गया है।

डाग स्कवायड की उपस्थिति में घटनास्थल का निरीक्षण वरिष्ठ पुलिस अधिकारीगण तथा एफएसएल अधिकारी द्वारा किया जाकर अज्ञात मृतक एवं आरोपियों की पता-तलाश करने हेतु संबंधितों को निर्देशित किया गया था। पुलिस टीम द्वारा अज्ञात मृतक की शिनाख्ती/पहचान हेतु सीमावर्ती थाना क्षेत्र के विभिन्न ग्राम, रायगढ़ जिला के सीमावर्ती ग्राम, ओड़िसा राज्य के विभिन्न ग्राम के ग्रामीणों को फोटो दिखाकर पहचान हेतु प्रयास किया गया साथ ही समस्त व्हाट्सअप बीट ग्रुप में भी भेजा गया था। इसी क्रम में अज्ञात शव की पहचान बेस्कीमुड़ा थाना लैलुंगा जिला रायगढ़ निवासी आनंद राम पैंकरा के रूप में हुई, जिसे उसी गांव के रहने वाले व्यक्तियों ने पहचाना।

विवेचना दौरान मुखबीर सूचना एवं सायबर सेल के सहयोग से प्रकरण के संदेही आरोपीगण पदुमलाल पैंकरा एवं करमचंद पैंकरा को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ करने पर बताये कि दिनांक 20.01.2023 को पदुमलाल पैंकरा अपने घर में मुर्गा बना रहा था उसी समय गांव का रहने वाला आनंद राम पैंकरा उसके घर में आया और कुछ देर बाद इसके माॅं के कमरे में प्रवेश कर अंदर से दरवाजा बंद कर माॅं के साथ अमर्यादित व्यवहार कर रहा था, उसी समय वह दरवाजा को धक्का देकर अपनी माॅं के पास गया। आनंद राम पैंकरा वहां से निकलकर भाग गया। आनंद राम पैंकरा ने अपनी माॅं के साथ हुये कृत्य को अपने मित्र करमचंद पैंकरा को बताया और उक्त दोनों के मध्य उसी दिनांक को आनंद राम पैंकरा को मार डालने की बात हुई। पदुमलाल पैंकरा अपने दोस्त करमचंद पैंकरा के साथ एक व्यक्ति का मोटर सायकल लेकर आनंद राम पैंकरा को मोटर सायकल में बैठाकर एक ग्रामीण के घर में शराब पिलाने ले गया, 01 बाॅटल शराब को वहीं पर उन्होंने मिलकर पिया एवं अन्य 01 बाॅटल लगभग शराब को पाॅलीथीन में लेकर तीनों मोटर सायकल से औरीजोर रास्ते से होते हुये गये, रास्ता में पड़ा छिंटदार साड़ी मिला उसको उठाते हुये गंझियाडीह चौक के पास जाकर हाॅटल में नास्ता कर तीनों डुमरिया खुटंगा नाला के पास रूके, वहां मोटर सायकल को खड़ी कर कुछ दूरी पर खेत में बैठकर अपने पास रखे शराब को पीये, शराब पीने के बाद करमचंद पैंकरा ने पास में रखे साड़ी कपड़ा से आनंद राम पैंकरा के गले में जोर से लपेट दिया। आनंद राम के अचेत अवस्था में होने पर वहीं पास में पड़ा पत्थर से पदुमलाल पैंकरा ने आनंद राम के सिर में पटकरकर हत्या कर दिया। खून के धब्बे उनके पहने कपड़ों में लग गया था जिसे उन्होनें छिपाकर रखना बताये। आरोपियों का कृत्य धारा 302, 201 भा.द.वि. का पाये जाने पर आरोपीगण 1-पदुमलाल पैंकरा उम्र 25 साल एवं 2-करमचंद पैंकरा उम्र 20 साल दोनों निवासी ग्राम बेस्कीमुड़ा थाना लैलुंगा जिला रायगढ़ (छ.ग.) को दिनांक 29.01.2023 को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है।

प्रकरण की विवेचना कार्यवाही एवं आरोपीगणों को गिरफ्तार करने में निरीक्षक ओमप्रकाश कुजूर, उ.नि. बंशनारायण शर्मा, उ.नि. प्रदीप सिदार, स.उ.नि. नसरूद्दीन अंसारी, प्र.आर. 87 हरिशंकर राम, आर. 681 रामसागर नायक, आर. 568 राजेन्द्र रात्रे, आर. 679 रूबेन तिग्गा, आर. 584 शिवपूजन साय, आर. 59 नंदलाल यादव का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here