झुमका महोत्सव में जमकर हुड़दंग : तोड़ी 700 कुर्सियां, 15 उपद्रवियों की हुई पहचान, अब परिजन करेंगे नुकसान की भरपाई

0
23

कोरिया। छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में आयोजित हुए झुमका जल महोत्सव में उपद्रव मचाने के मामले में एसपी त्रिलोक बंसल के कड़े एक्शन के बाद कुर्सी तोड़ने वाले 15 शरारती तत्व चिन्हाकित किए गए हैं। सीसीटीवी फुटेज और कार्यक्रम रिकार्डिंग कैमरा के आधार पर उपद्रवियों की पहचान हुई। सभी 15 शरारती तत्वों के परिजनों को भरपाई की हिदायत दी गई है। वहीं शेष उपद्रवियों की पतासाजी की जा रही है।

असामाजिक तत्वों ने तोड़ी 700 कुर्सियां
उल्लेखनीय है कि, जिले में पहली बार झुमका जल महोत्सव का आयोजन 18 जनवरी को हुआ। इस दौरान शरारती तत्वों ने जमकर तोड़फोड़ की। उधर मंच पर गायक धुन छेड़ रहे थो, तो इधर दर्शक दीर्घा में मानो ज्यादा कुर्सियां तोड़ने की होड़ मची हुई थी। कार्यक्रम के दौरान असामाजिक तत्वों द्वारा लगभग 700 कुर्सियां तोड़ी गई थी।

आयोजन स्थल का नजारा किसी युद्ध के मैदान की तरह
महोत्सव में बॉलीवुड के मशहूर गायक सुखबीर सिंह के भागड़ा गानों पर दर्शक दीर्घा जमकर झूम रही थी। सुखबीर की दर्शक दीर्घा के उत्साह के साथ नाच-गा रहे थे, वहीं दूसरी ओर दर्शक दीर्घा में शामिल असामाजिक तत्व जमकर कुर्सी तोड़ रहे थे। माना जाता है कि असामाजिक तत्व महोत्व का आनंद लेने नहीं, दर्शक दीर्घा की कुर्सी तोड़ने पहुंचे थे। कार्यक्रम समाप्त होने के बाद जब लोग जाने लगे तो कार्यक्रम स्थल ऐसा दिखाई दे रहा था, मानो यहां युद्ध हुआ होगा।

तोड़फोड़ को सुरक्षा में लगे जवान भी नहीं रोक सके
कार्यक्रम के दौरान हो रही तोड़फोड़ को सुरक्षा में लगे जवान भी नहीं रोक पाए, वे भी सुखबीर के गानों का आंनद ले रहे थे। इस तोड़फोड़ से कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा के प्रश्न खड़े हो गए हैं। लोगों का मनाना है कि इस लापरवाही से असामाजिक तत्व किसी बड़ी घटना को भी अंजाम दे सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here