Raigarh News: कानून व्यवस्था बनाए रखने में सशक्त सूचना तंत्र की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण- कलेक्टर कार्तिकेया गोयल

0
135

प्रशासन और पुलिस के अधिकारी समन्वय के साथ जमीनी स्तर पर लॉ एंड ऑर्डर के लिए करें काम
अवैध शराब, मादक पदार्थों की तस्करी, नशीली दवाओं की अवैध बिक्री पर ज्वाइंट टीम बनाकर करें कार्यवाही
ब्लाइंड स्पॉट पर रेडियम साईनेज और रिफ्लेक्टर लगाने और सड़कों में औद्योगिक वाहनों की पार्किंग पर कार्यवाही के लिए किया निर्देशित
कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने लॉ एंड ऑर्डर को लेकर अधिकारियों की ली समीक्षा बैठक

रायगढ़, 14 जून 2024/ जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखने में सूचना तंत्र और इंटेलीजेंस की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका होती है। राजस्व और पुलिस प्रशासन का अमला मैदानी स्तर पर अपने सूचना तंत्र को मजबूत रखें। ऐसी किसी भी सूचना या अफवाह पर नजर रखें जिससे शांति और कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है और उस पर तत्काल एक्शन लें। यह बातें कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने अधिकारियों से कही। उन्होंने आज दोपहर कलेक्ट्रेट के सभा कक्ष में लॉ एंड ऑर्डर को लेकर समीक्षा बैठक ली। पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग पटेल भी बैठक में शामिल हुए।











कलेक्टर गोयल ने कहा कि असामाजिक तत्वों और अशांति फैलाने वाले लोगों की पहचान कर किसी भी प्रकार की अनुचित गतिविधि में लिप्त होने पर कार्यवाही करें। हर ग्राम स्तर पर सूचना तंत्र मजबूत रखें। पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग पटेल ने थाना स्तर पर भी अपने क्षेत्र से संबंधित इलाकों की जानकारी अपडेट रखने के निर्देश दिए। उन्होंने महिलाओं और बच्चों के विरुद्ध अपराध में अविलंब कार्यवाही के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री कार्तिकेया गोयल ने सोशल मीडिया और ऑनलाइन प्लेटफार्म में अपुष्ट सूचनाओं और फेक न्यूज पर नजर रखने और सही तथ्यों के साथ जानकारी प्रसारित करने के निर्देश दिए।


कलेक्टर गोयल ने कहा कि विस्फोटकों का भंडारण मापदंडों के अनुसार होना चाहिए व सभी सुरक्षा मानकों का पालन किया जाना चाहिए। उन्होंने सभी एसडीएम से कहा कि अपने क्षेत्र में विस्फोटकों के भंडारण की मौका मुआयना कर जांच करें। औद्योगिक क्षेत्रों में उपयोग किए जाने वाले विस्फोटक के भंडारण के संबंध में अपडेटेड जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। कलेक्टर गोयल ने अस्पतालों में फायर सेफ्टी के संबंध में जानकारी ली। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि अस्पतालों में फायर एक्सटिंग्विशर लगाए गए हैं। कलेक्टर गोयल ने इसके साथ आग बुझाने के लिए पर्याप्त व्यवस्था रखे जाने के संबंध में हॉस्पिटल स्टाफ को निर्देशित करने के लिए कहा। आईपीडी में इलाज के दौरान मरीज की निजता भंग न हो इसके लिए कैमरे के उपयोग पर रोक लगाने संबंधी शासन स्तर से जारी निर्देश के कड़ाई से पालन के निर्देश दिए।

कलेक्टर गोयल ने डीजे, लाउड स्पीकर व ध्वनि विस्तारक यंत्रों के लिए तय ध्वनि सीमा और 10 बजे के बाद उपयोग नहीं किए जाने और अन्य गाइडलाइंस के अनुसार ही उपयोग हो यह सुनिश्चित करने के लिए कहा। उन्होंने साइलेंस जोन में यंत्रों के उपयोग में सावधानी बरतने को लेकर डीजे संचालकों को जागरूक करने के लिए कहा। दिशा-निर्देशों के उल्लंघन की शिकायत के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने बाहर से आए श्रमिकों और किरायेदारों के नियमित वेरिफिकेशन के भी निर्देश दिए।

बैठक में सीईओ जिला पंचायत जितेन्द्र यादव, एडीएम संतन देवी जांगडे, अपर कलेक्टर  राजीव कुमार पाण्डेय, आयुक्त नगर निगम सुनील चंद्रवंशी सहित सभी एसडीएम, एसडीओपी, तहसीलदार, थाना प्रभारी सहित अन्य विभागों के जिला अधिकारी बैठक में उपस्थित हुए।

अवैध शराब और मादक पदार्थों, नशीली दवाओं की अवैध बिक्री पर साझा कार्यवाही के निर्देश
कलेक्टर गोयल ने अवैध शराब और मादक पदार्थों की तस्करी, नशीली दवाओं की अवैध बिक्री पर कड़ी कार्यवाही करने के लिए कहा। उन्हें विभागीय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि नशे के विरुद्ध कार्यवाही में भी सूचना तंत्र की अहम भूमिका है। आबकारी और खाद्य और औषधि प्रशासन पुलिस विभाग के साथ साझा रूप से इसमें कार्यवाही करें। समीक्षा के दौरान आबकारी विभाग से की गई कार्यवाही का अपडेट लिया। उन्होंने कहा कि आबकारी विभाग मादक पदार्थों के विरुद्ध कार्यवाही बढ़ाए। पुलिस विभाग के साथ फील्ड में संयुक्त कार्यवाही करें। उन्होंने नशीली दवाओं के विरुद्ध ड्रग इंस्पेक्टर को कार्यवाही के लिए निर्देशित किया।

उद्योगों के बाहर सड़कों पर वाहन पार्किंग पर करें कार्यवाही
कलेक्टर गोयल ने कहा कि रायगढ़ जिले में उद्योगों की बहुलता के कारण सड़क पर भारी वाहनों की काफी आवाजाही होती है। देखने में ये आता है कि उद्योगों में लोडिंग-अनलोडिंग के लिए पहुंचे वाहन मुख्य सड़क पर पार्क कर दिए जाते हैं। इससे ट्रैफिक जाम के साथ दुर्घटनाओं की संभावनाएं बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि वाहनों को उद्योग परिसर के भीतर ही पार्क करना है। बाहर गाड़ी खड़ा करने पर कार्यवाही होनी चाहिए। आरटीओ, पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारी इस पर विशेष रुपबाई ध्यान दें। कलेक्टर गोयल ने इसके साथ ही सड़कों में ब्लाइंड स्पॉट पर साईनेज, रिफ्लेक्टर और रंबल स्ट्रिप का अनिवार्य रूप से लगे हों।













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here