भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव के काफिले की पायलट वाहन पलटी, प्रधान आरक्षक की मौत, तीन घायल

0
24

अंबिकापुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अरुण साव के काफिले में शामिल पायलट वाहन के पलटने से प्रधान आरक्षक की मौत हो गई। तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए। उन्हें उदयपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद मेडिकल कालेज अंबिकापुर अस्पताल में शिफ्ट करा दिया गया है।

घटना गुरुवार देर रात एक से दो बजे के बीच हुई है। बताया जा रहा है कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव अंबिकापुर में आज से हो रहे भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने के लिए बिलासपुर से सड़क मार्ग से अंबिकापुर जा रहे थे। उनके काफिले में शामिल पायलट वाहन की गति तेज थी। उदयपुर नर्सरी के समीप चालक का वाहन पर से नियंत्रण हट गया तेज गति की पायलट वाहन सड़क किनारे दुर्घटनाग्रस्त हो गई जिससे मौके पर अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया।











भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव भी तत्काल मौके पर पहुंच गए। वाहन में चालक सहित चार पुलिस कर्मचारी सवार थे। सभी को तत्काल घटनास्थल से उठाकर उदयपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया यह जांच के बाद चिकित्सकों ने प्रधान आरक्षक रविशंकर 55 वर्ष को मृत घोषित कर दिया। घायलों में रामदेव(44) को कंधे में चोट लगी है। प्रदीप (29) को हाथ, पैर कमर में चोट है। अनिल पैकरा (32) के सीना, गला और कमर में चोट आई है।

उपचार के लिए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज किया गया शिफ्ट
घायलों के उदयपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव भी मौजूद रहे। प्राथमिक उपचार के बाद तीनों घायलों को संजीवनी 108 एंबुलेंस से देर रात अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज शिफ्ट करा दिया गया है घटना पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने दुख व्यक्त किया है। अस्पताल में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अध्यक्ष अरुण साव, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, एसडीओपी अखिलेश कौशिक, थाना प्रभारी निरीक्षक धीरेंद्र नाथ दुबे उपस्थित रहे।

कार्यसमिति की बैठक
बता दें कि आज से अंबिकापुर में भाजपा की दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हो रही है इसी बैठक में शामिल होने के लिए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सड़क मार्ग से बिलासपुर से अंबिकापुर आ रहे थे। उसी दौरान यह हादसा हुआ है। अन्य भाजपा नेता, वह वरिष्ठ पदाधिकारी दुर्ग ट्रेन से अंबिकापुर पहुंचने वाले हैं। भाजपा के प्रदेश सह प्रभारी नितिन नवीन सड़क मार्ग से झारखंड के गढ़वा व छत्तीसगढ़ के रामानुजगंज होते हुए देर रात अंबिकापुर पहुंचे हैं।













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here