सीएम कैंप कार्यालय की पहल…किडनी की बीमारी से परेशान बच्ची का हुआ सफल इलाज…परिवार में आई खुशियां

0
118

जशपुर- मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय बगिया के निर्देश पर कांसाबेल विकासखण्ड में स्वास्थ्य विभाग के चिरायु टीम ने सार्थक पहल करते हुए ग्राम देवरी निवासी शीतल साय पैंकरा के घर में रौनक और खुशी लाई है। चिरायु टीम ने देवरी निवासी शीतल साय पैंकरा के बेटी प्रांचली पैंकरा का एम्स हास्पिटल रायपुर में इलाज कराया है। अब प्रांजली पैंकरा पूरी तरह स्वस्थ्य है।

चेहरे पर आ गई थी सूजन











बता दें, प्रांजली को किडनी की बीमारी थी। जिसके कारण पूरे शरीर में सूजन हो गई थी। इतना ही नहीं चेहरा भी सूज गया था। इसलिए पीड़ित के परिजन मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के निजी निवास बगिया स्थित मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय में इलाज कराने की मदद के लिए आवेदन देकर गुहार लगाने पहुंचे थे। जिसके बाद कैंप कार्यालय बगिया के निर्देश पर जिला प्रशासन ने इस नन्ही बच्ची के इलाज के लिए स्वास्थय विभाग के चिराऊ की टीम ने इलाज के लिए एम्स अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां उसका इलाज सफल हो गया है।

8 साल की है बच्ची

ग्राम देवरी की रहने वाली शीतल साय पैंकरा ने बताया कि, उनकी बेटी 8 साल की है। किडनी की बिमारी की वजह से प्रांचली पैंकरा का चेहरा और पूरे शरीर में सूजन आ गई थी। जिसके कारण उनकी बेटी को बहुत सारी परेशानी हो रही थी। उसे देखकर पूरा परिवार बहुत दुखी हो जाता था।

प्रांजली का परिवार बेहद गरीब है

कांसबोल की चिरायू टीम ने बताया गया कि, उनकी पुत्री को किडनी की बीमारी है। इधर, शीतल साय पैंकरा ने बताया कि, वे बहुत ही गरीब परिवार से हैं और बहुत ही मुश्किल से घर परिवार का खर्च चल रहा है। ऐसे में बड़ी जगह जाकर इलाज करा पाना उनके लिए संभव नहीं था। उनकी आर्थिक स्थिति भी अच्छी नहीं है।

इलाज सफल होते ही घर में आई रौनक

मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय बगिया में इलाज कराने के लिए आवेदन देने के बाद उनकी पहल पर चिरायु टीम कांसाबेल ने प्रांजली को पहले जशपुर जिला अस्पतला ले जाया गया। यहां प्राथमिक इलाज के बाद उसे रायपुर एम्स हास्पिटल में भर्ती करवाया गया था। अब शीतल साय पैंकरा की बेटी प्रांजली पूरी तरह स्वस्थ्य है। उसे स्वास्थ्य देखकर शीतल साय पैंकरा के परिवार वाले बेहद खुद हैं। उनके घर में रौनक आ गई है। पैंकरा के पूरे परिवार वालों ने खुशी जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय और चिरायु टीम के अलावा स्वास्थ्य विभाग को धन्यवाद दिया है।

400 से अधिक मरीजों का कराया गया इलाज

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के निजी निवास बगिया स्थित कैंप कार्यालय में अब तक 400 से अधिक मरीजों के इलाज के लिए पहल की जा चुकी है। बगिया स्थित कैंप कार्यालय अब लोगों के लिए आशा का केंद्र बना हुआ है। हर रोज लोग यहां सैकड़ों की संख्या में समस्या लेकर पहुंचते हैं और बहुत सरलता के साथ मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय की धर्मपत्नी श्रीमती कौशल्या साय और सीएम के निजी सहायक लोगों से मिलते हैं। ये लोग उनकी समस्या ही नहीं सुनते, बल्कि तत्काल निराकरण निकालते हैं।













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here