किरोड़ीमलनगर। विगत दिवस जिन्दल आदर्श ग्राम्य भारती विद्यालय, किरोड़ीमलनगर में विज्ञान मॉडल प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। आयोजन में विद्यालय के प्राथमिक माध्यमिक व उच्च. माध्य. के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। उक्त कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए श्री विजय कुमार अग्रवाल, चेयरमेन, आदर्श भारती शिक्षण समिति, किरोड़ीमलनगर ने अपने उद्बोधन में विद्यार्थियों का उत्साहवद्र्धन करते हुए कहा कि विज्ञान प्रदर्शनी एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा है जिसमें विज्ञान परियोजना के माध्यम से छात्रों में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी क्षेत्र में विशेष रुचि उत्पन्न करने तथा अपनी प्रतिभा प्रदर्शन करने का अवसर प्रदान करती है। प्रोजेक्ट परिणामों को रिपोर्ट के रुप में डिस्प्ले बोर्ड के रुप में या मॉडल के माध्यम से प्रस्तुत करते हैं।

इस अवसर पर संस्था के उर्जावान प्राचार्य श्री सतीश कुमार पाण्डेय ने अपना विचार व्यक्त करते हुए कहा कि इस तरह के आयोजन से विद्यार्थियों को वैज्ञानिक तथ्यों एवं नियमों को आसानी से समझने में मदद मिलती है। इस आयोजन का उद्देश्य विद्यार्थियों के अंदर रचनात्मक शैली का विकास, वैज्ञानिक उत्सुकता बढ़ाना, आत्मविश्वास को सुदृढ़ करना व नूतन अन्वेषण हेतु प्रेरित करना है। विज्ञान मॉडल का उद्देश्य मूलतः विद्यार्थियों को विज्ञान के प्रति प्रेरित करना तथा जन साधारण को विज्ञान व वैज्ञानिक उपलब्धियों के प्रति सजग बनाना है। विद्यालय के वित्त व लेखाधिकारी श्री प्रणय अग्रवाल द्वारा प्रस्तुत मॉडलों का निरीक्षण करते हुए कहा कि विज्ञान प्रर्दशनी एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा छात्र-छात्राएँ अपनी जिज्ञासा व प्रतिभा का प्रदर्शन व विकास कर सकते हैं। यह छात्रों के शैक्षणिक गतिविधि का ही भाग है जिसमें वे कुछ अपने आप करने की कोशिश करते हुए सिखते हैं।

विद्यार्थ भवन के विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत विभिन्न वैज्ञानिक मॉडलों में लाइट ट्रेकिंग डिवाइस, होलोग्राफिक डिस्प्ले, वर्किंग माइक्रोस्कोप , स्टीम जेनेरेटर, रॉकेट इलेवेटर, अर्थक्वेक इंडिकेटर, हाउस सेक्यूरिटी डिवाइस, हाईड्रोजन गैस प्लांट, नॉन वर्किंग मॉडल में डिस्प्ले कॉमर्स एण्ड ट्रेड, लाइफ प्रोसेस, मॉडल विपेज, गैर पारंपरिक ऊर्जा, बायो-गैस प्लांट, ट्रेफिस सेक्यूरिटी मॉडल आदि प्रमुख रहे शिक्षार्थ भवन के विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत विभिन्न वैज्ञानिक मॉडलों में वैक्यूम क्लीनर, ड्रोन मशीन, चॉकलेट वेंडिंग मशीन, एटीएम मशीन, वाटर फ्लो इंडिकेटर, रेन वाटर इंडिकेटर, डाइजेस्टिव सिस्टम, रेस्पिरेटरी सिस्टम, उत्सर्जन तंत्र, रॉकेट नोदन, स्मार्ट सिटी, सोलर सिस्टम, म्यूजिक पेंडुलम, धान कटर मशीन व 3 डी इफेक्ट प्रोजेक्टर कॉमर्स फील्ड से बजट मनी सरकुलेशन, डिमांड एंड प्रोडक्शन, वैक्यूम क्लीनर, ड्रिप इरिगेशन, वर्क अॉफ किडनी फंक्शन अॉफ लक डे नाईट, मॉडल हाइड्रोजन और केमिकल इफेक्ट फॉर्मेशन अॉफ एच 2 गैस कंट्रोल आफ पॉल्यूशन सिटी फॉरमेशन आदि। इसी तरह ज्ञानार्थ भवन के विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत विभिन्न वैज्ञानिक मॉडलों में हाइड्रो इलेक्ट्रीकल ऐनर्जी, बायो गैस प्लांट, वालकेनो, अर्थक्वेक, स्टीम एनर्जी, इलेक्ट्रोलेसिस, रैन वाटर हारवेस्टिंग, कंडक्टर्स आॅफ इलेक्ट्रीसिटी, स्टेट्स आॅफ मेटर, एसीड बेस इंडेकेटर, वाटर डिस्पेनसर, टाइप्स आॅफ हॉउसेस, टाइप्स आॅप पौलुसन, ए.टी.एम., मैगनेटिक इफेक्ट आॅफ इलेक्ट्रीक करंट, वाटर साईकिल, वाटर अलार्म, स्ट्रीट लाइट, वाइन्ड एनर्जी आदि प्रमुख मॉडल रहे।

उक्त अवसर पर संस्था के चारों सदनों ईस्ट, वेस्ट, नार्थ व साऊथ के 723 प्रतिभागियों ने एकल एवं समूह में 114 माडल प्रस्तुत किए। बच्चों द्वारा प्रस्तुत विभिन्न मॉडलों का सूक्ष्म निरीक्षण कर उन्हें क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्रदान किया गया। नगर के अभिभावकों ने इनके प्रतिभा की भूरी-भूरी प्रशंसा की तथा इसे टीचिंग एड के रुप में कठिन पाठ्य वस्तुओं को सोदाहरण एवं प्रर्दशन द्वारा शिक्षकीय कार्य संपादित किये जाने के प्रयासों एवं शिक्षा को गुणवत्ता पूर्ण, प्रभावी व सुदृढ़ बनाये जाने के अथक प्रयास की सराहना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here