शिविर में 1440 प्रकरणों का हुआ निराकरण
17 फरवरी को जिला स्तर पर आयोजित होंगे शिविर

रायगढ़, 10 फरवरी 2024/ राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री टंकराम वर्मा के निर्देशानुसार राजस्व प्रकरणों के त्वरित निराकरण के लिए आज जिले के सभी तहसील स्तर जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन किया गया।

अपर कलेक्टर राजीव पाण्डेय ने जानकारी देते हुए बताया कि शिविर में खसरा, बी-1 का वाचन किया गया और चालू खसरा का नि:शुल्क वितरण भी किया गया। शिविर में नामांतरण, खाता विभाजन, सीमांकन, व्यपवर्तन, आय, जाति, निवास प्रमाण पत्रों के संबंध में जनसामान्य को आवश्यक जानकारी दी गई तथा आवेदन भी प्राप्त किए गए। लोक सेवा गारंटी अधिनियम, 2011 के संबंध में भी जानकारी दी गयी। अविवादित नामांतरण, अविवादित खाता विभाजन और सीमांकन हेतु तीन माह की समय-सीमा नियत की गई है। इसी प्रकार आय-प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र हेतु 15 दिवस तथा स्थायी सामाजिक प्रस्थिति प्रमाण पत्र हेतु 30 दिवस की समय-सीमा नियत की गयी है। शिविर में आज बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे। आगामी 17 फरवरी को जिला स्तर पर जनसमस्या निवारण शिविर आयोजित होंगें, जिनमें पूर्व शिविर में प्राप्त आवेदन पत्रों के निराकरण की भी समीक्षा की जाएगी।

आज तहसीलवार विभिन्न अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी थी। इनमें तहसील खरसिया में अपर कलेक्टर संतन देवी जांगड़े, पुसौर में अपर कलेक्टर राजीव कुमार पाण्डेय, धरमजयगढ़ एवं कापू में संयुक्त कलेक्टर धनीराम रात्रे, छाल में संयुक्त कलेक्टर भरत राम धु्रव, लैलूंगा एवं मुकडेगा में संयुक्त कलेक्टर ऋषा ठाकुर, घरघोड़ा एवं तमनार में डिप्टी कलेक्टर ऋतु हेमनानी एवं रायगढ़ में डिप्टी कलेक्टर महेश शर्मा उपस्थित रहे।

1440 प्रकरण हुए निराकृत
तहसील स्तर पर आयोजित जनसमस्या निवारण शिविर में आज कुल 1440 प्रकरणों का निराकरण किया गया। इनमें खसरा बी-1 वितरण में 506, किसान किताब वितरण 48, डायवर्सन-5, फौती-नामांतरण-33, अविवादित नामांतरण-16, अविवादित बंटवारा-4, अन्य राजस्व प्रकरण 828 आवेदनों का निराकरण किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here