रायगढ़ टॉप न्यूज 27 जनवरी। संविधान लागू होने के 75वें वर्ष गांठ पर देश में जोरदार उत्सव मनाया गया।इसी कड़ी में विद्या विकास कॉन्सेप्ट स्कूल में भी 26 जनवरी का कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में पर्वतारोही यशी जैन उपस्थित रहीं। जिन्होंने बच्चों का उत्साहवर्धन करते हुवे तिरंगा झंडा फहरा कर कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम की कड़ी में सबसे पहले विद्या विकास कॉन्सेप्ट स्कूल के छात्र-छात्राओं ने नृत्य प्रदर्शन किया जिसमें कानून और संविधान के निर्माण की पूरी कहानी बताई गई उसके साथ ही संबलपुरी नृत्य से सब का मन बच्चों ने मोह लिया।

 

बच्चों को संबोधित करते हुए विद्या विकास कॉन्सेप्ट स्कूल के एकेडमिक डायरेक्टर जी रामकृष्ण ने कहा कि इस 75वें गणतंत्र दिवस पर हम प्रभु श्री राम के जन्म पर आधारित कुछ बातों की शिक्षा अपने जीवन में भी ग्रहण कर सकते हैं, एक विद्यार्थी को भी प्रभु श्री राम की तरह त्यागभरा जीवन जीने की आदत होनी चाहिए शिक्षा से बढ़कर उनके लिए और कुछ भी नहीं होता। शिक्षा के लिए विद्यार्थियो को अपने सुखों के सभी साधनों को त्यागना चाहिए इसके अलावा कर्तव्यनिष्ठा भी हम भगवान श्री राम से सीख सकते हैं जिस प्रकार प्रभु ने अपने पिता के दिए हुए वचन को पूरा करने के लिए 14 वर्ष का वनवास काटा इस तरह हम विद्यार्थियों को भी अपने माता-पिता का नाम रोशन करने के लिए उनके दिखाए हुए रास्तों पर चलना चाहिए।

पर्वतारोही याशी जैन ने कहा कि उन्होंने भी कठिन परिश्रम करते हुए विश्व के चार सबसे ऊंचे पर्वतों की चढ़ाई की इसके पश्चात उनका नाम विश्व रिकॉर्ड के लिए भी दर्ज किया गया है ।उन्होंने बताया कि विद्या विकास कॉन्सेप्ट स्कूल के ही स्पोर्ट्स शिक्षक अमरदीप जी से शिक्षा ग्रहण करके उन्हें पर्वतारोही बनने की प्रेरणा मिली। इसी तरह उन्होंने प्रत्येक विद्यार्थियो के जीवन में एक शिक्षक का महत्व बताया..और कहा की एक विद्यार्थी जीवन का प्रमुख उदेश्य है अपने गुरुजनो का आदर करें और उनके आज्ञा का पालन करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here