रायगढ़

Raigarh News: हर दिन पूरे सम्मान और गर्व के साथ फहराएं तिरंगा: नवीन जिंदल

रायगढ़ स्टेडियम में कीर्ति ध्वज स्तंभ का श्री नवीन जिंदल ने किया लोकार्पण
कहा- रायगढ़ से हमारा तीन पीढ़ियों का रिश्ता, यहीं से शुरू हुआ देशवासियों को तिरंगा फहराने का अधिकार दिलाने का संघर्ष

रायगढ़ टॉप न्यूज 25 जनवरी। फ्लैग फाउंडेशन ऑफ इंडिया द्वारा रायगढ़ स्टेडियम में स्थापित किए गए कीर्ति ध्वज स्तंभ का लोकार्पण संस्था के अध्यक्ष श्री नवीन जिंदल ने गुरूवार को किया। ध्वजारोहण के बाद अपने उद्बोधन में श्री जिंदल ने कहा कि रायगढ़ से उनका तीन पीढ़ियों का रिश्ता है और यहीं से देशवासियों को गर्व से तिरंगा फहराने का अधिकार दिलाने का संघर्ष शुरू हुआ था। उन्होंने सभी देशवासियों से हर दिन पूरे सम्मान और गर्व के साथ तिरंगा फहराने की अपील की।

फ्लैग फाउंडेशन ऑफ इंडिया द्वारा रायगढ़ स्टेडियम में कीर्ति ध्वज स्तंभ की स्थापना की गयी है। इसका लोकार्पण समारोह गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित किया गया। आयोजन के मुख्य अतिथि फ्लैग फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष एवं जिंदल स्टील एंड पॉवर के चेयरमैन श्री नवीन जिंदल रहे। उनके साथ जिला पंचायत अध्यक्ष श्री निराकार पटेल, महापौर श्रीमती जानकी काटजू एवं पूर्व विधायक श्री विजय अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोगों ने कार्यक्रम में शिरकत की। अपने उद्बोधन में श्री जिंदल ने कहा कि रायगढ़ से हमारा पारिवारिक रिश्ता है। बाबूजी श्री ओमप्रकाश जिंदल ने यहां धर्मशाला में रहकर अपनी मेहनत से इस षहर से संबंध की शुरूआत की। यहां के लोगों से उन्हें भरपूर प्यार मिला और उनका भी यहां से गहरा जुड़ाव था। मेरी जन्मभूमि हरियाणा है, लेकिन कर्मभूमि रायगढ़ है। मैं जब अमेरिका से पढ़ाई पूरी कर भारत लौटा, तो बाबूजी ने मुझे रायगढ़ भेज दिया। तब मेरी उम्र 22 साल थी। यहां 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर संयंत्र में तिरंगा फहराया गया। अगले दिन झंडा निकाला गया, तो मुझे आश्चर्य हुआ और पता चला कि देश में नागरिकों को हर रोज तिरंगा फहराने का अधिकार नहीं है। यहीं से सभी को तिरंगा फहराने का अधिकार दिलाने का कानूनी संघर्ष शुरू हुआ। 23 जनवरी 2004 को माननीय सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक निर्णय सुनाते हुए देश के सभी नागरिकों को पूरे गर्व और सम्मान के साथ तिरंगा फहराने का मौलिक अधिकार प्रदान कर दिया। दो दिन पहले ही हमने इस ऐतिहासिक दिन की 20वीं वर्षगांठ मनायी है।

श्री जिंदल ने हर घर तिरंगा, हर दिन तिरंगा अभियान शुरू करने के लिए भारत सरकार का आभार जताया। उन्होंने कहा कि जब हम तिरंगा लहराते हुए देखते हैं, तो यह हमें जाति, वर्ग, भाषा, क्षेत्र के संकीर्ण बंधनों से ऊपर उठकर सबसे पहले एक भारतीय के तौर पर अपने कर्तव्यों की याद दिलाते हुए आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। तिरंगा हर भारतीय धर्म, भाषा, संस्कृति और क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता है।

पूर्व विधायक श्री विजय अग्रवाल ने अपने उद्बोधन में कहा कि तिरंगा हर भारतवासी का गर्व है। पिछले दशक में पूरी दुनिया में तिरंगे का सम्मान और भी बढ़ा है। जन-जन तक तिरंगे को पहुंचाने का अधिकार दिलाने के लिए श्री नवीन जिंदल ने लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी और उनके प्रयास के परिणामस्वरूप आज देश का हर नागरिक तिरंगा फहरा सकता है। उन्होंने कहा कि श्री जिंदल रायगढ़ के अपने ही हैं। उनमें किसी भी लक्ष्य को हासिल करने का जुनून है और तिरंगे का संघर्ष इसका बड़ा उदाहरण है। श्री जिंदल और जेएसपी फाउंडेशन की चेयरपर्सन श्रीमती शालू जिंदल द्वारा रायगढ़ के समग्र विकास के लिए अनेक योगदान दिए गए हैं। उन्होंने इनके लिए जेएसपी फाउंडेशन का आभार जताया। जिपं अध्यक्ष श्री पटेल ने अपने उद्बोधन में कहा कि आज देश और दुनिया में रायगढ़ की पहचान जिंदल स्टील एंड पॉवर के कारण बनी है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि आगे भी नवीन जी के नेतृत्व में इसी तरह का योगदान जारी रहेगा। महापौर श्रीमती काटजू ने देश के हर नागरिक को तिरंगा फहराने का अधिकार दिलाने के लिए श्री नवीन जिंदल का आभार जताया। उन्होंने कहा कि श्री जिंदल के नेतृत्व में जेएसपी द्वारा रायगढ़ के चहुंमुखी विकास में योगदान दिया जा रहा है। स्वागत उद्बोधन ओपी जिंदल स्कूल के प्राचार्य श्री आरके त्रिवेदी एवं आभार प्रदर्शन जिंदल स्टील एंड पॉवर के कार्यपालन निदेशक श्री सब्यसाची बंद्योपाध्याय ने किया। मंच संचालन श्रीमती रवीन्द्र कौर चौबे एवं श्री राजेश डेनियल ने किया।

R.O. No. 12710/ 17

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button