रायगढ़ टॉप न्यूज 27 जनवरी 2023। आर्ष गुरुकुलम् तुरंगा (पडिगांव) में आगामी एक फरवरी से तीन फरवरी तक तीन दिवसीय मातृभूमि सम्मेलन एवं राष्ट्रभृत महायज्ञ का आयोजन जिले व प्रदेश के विशिष्टगणों की विशेष उपस्थिति में किया जा रहा है। वहीं इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए गुरुकुलम् के आचार्य राकेश ने बताया कि भारत के स्वाधीनता के 75 वें वर्ष के सुअवसर पर आर्ष गुरुकुलम् तुरंगा के पावन परिसर में आगामी एक फरवरी से तीन फरवरी तक मातृभूमि सम्मेलन एवं राष्ट्रभृत महायज्ञ का भव्य आयोजन किया जा रहा है।

 

जिसके अंतर्गत शहीद परिवारों का अभिनंदन, शहीदों की चित्रावली का प्रदर्शन व महर्षि दयानंद के कार्यों पर व्याख्यान तथा आर्य समाज के द्वारा किए जा रहे कार्यों की जीवंत झांकी प्रस्तुत की जाएगी छत्तीसगढ़ प्रदेश में पहली बार आर्यों का अभूतपूर्व संगम रायगढ़ जिले के तुरंगा ग्राम में होगा। जहां वेदों के मर्मज्ञ विद्वान, विदुषी समाजसेवी सस्वर वेदपाठी विप्र विद्वानों के साथ राजनेताओं, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, प्रशासनिक अधिकारियों, साधु, संतों, महंतो एवं आचार्यों का आगमन होगा। वहीं आचार्य ने जिले के सभी लोगों को इस भव्य आयोजन में शामिल होने व सहयोग कर भव्यता देने का अनुरोध किए हैं। कार्यक्रम को सफल बनाने में आर्ष गुरुकुलम् तुरंगा के सभी सदस्यगण जुटे हैं ।


यह होगा कार्यक्रम
आर्ष गुरुकुलम् तुरंगा के आचार्य राकेश ने बताया कि इस भव्य महासम्मेलन कार्यक्रम के अन्तर्गत आगामी 31 जनवरी को दोपहर तीन बजे कलश यात्रा व शाम को छह बजे पूजा – अर्चना के साथ महायज्ञ का शुभारंभ होगा। वहीं एक फरवरी को सुबह छह बजे सामूहिक जप एवं ध्यान योग। सुबह 7.30 बजे राष्ट्रभृत महायज्ञ व वेदोपदेश, सुबह 11 बजे ध्वजारोहण, मातृ भूमि सम्मेलन का शुभारम्भ, दोपहर दो बजे महाप्रसाद, तीन बजे राष्ट्रवाद पर संगोष्ठी व शाम सात बजे सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा व दो फरवरी को सुबह छह बजे सामूहिक जप एवं ध्यान योग, सुबह 7.30 बजे राष्ट्रभृत महायज्ञ व वेदोपदेश, सुबह 10.30 बजे सरदार वल्लभ भाई पटेल छात्रावास का लोकार्पण, सुबह 11 बजे आजादी के महानायकों पर संगोष्ठी, दोपहर 1.30 बजे भारतीय संस्कृति का आधार वेद पर विचार, दोपहर दो बजे महाप्रसाद दोपहर तीन बजे आर्य वीरों द्वारा भव्य व्यायाम प्रदर्शन। शाम छह बजे सांस्कृतिक कार्यक्रम नृत्य, गीत संगीत की प्रस्तुति। इसी तरह आगामी तीन फरवरी को सुबह छह बजे योग ध्यान व जप सुबह 7.30 राष्ट्रभृत महायज्ञ, सुबह 11 बजे यज्ञ की पूर्णाहुति एवं समापन समारोह दोपहर तीन बजे महाभंडारा का आयोजन होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here