बिलासपुर। एक्सिस बैंक के व्यापार बिहार शाखा में 1 करोड़ 27 लाख रुपए के गबन का मामला सामने आया है। बैंक के कैशियर और आबकारी के ठेका कर्मचारियों ने मिलकर गड़बड़ी को अंजाम दिया है। बैंक प्रबंधक की शिकायत पर पुलिस ने धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार दुर्जती मुखर्जी एक्सीस बैंक व्यापार बिहार शाखा के शाखा प्रबंधक दुर्जति मुखर्जी ने 09.01.2023 को थाना में आकर लिखित शिकायत की और बताया कि एक्सीस बैक व्यापार बिहार बिलासपुर के शाखा में 23 दिसंबर को सीएसएमसीएल के CA ने बताया चाटर्ड एकांउटेड सीएसएमसीएल के साथ बैंक में चेक करने पर 57 भाउचर में से 11 भाउचर का मिलान हो रहा है लेकिन 46 भाउचर का मिलान नही हो रहा है, इन वाउचर्स का बैक में रिकार्ड भी नही है। ब्रांच मैनेजर ने बताया कि कुल 46 भाउचर का राशि रु. 1 करोड़ 27 लाख रुपए का कैश जमा काउन्टर (टेलर काउन्टर) में 3.12.2022 से 5.12.2022 के बीच की कैशियर राकेश प्रसाद के द्वारा जमा नहीं किया गया है।

हमें इसके लिए प्रबंधक निर्देशक सीएसएमसीएल रायपुर से दिनाक 30:12 2022 को लिखित शिकायत मिली की 1.27,53,030रू का हमारे व्यापार बिहार बिलासपुर के एक्सीस बैंक मे जमा नही हुआ है। रकम शासन द्वारा शराब बिकी का रकम जो टॉप सिक्योरिटी फैसिलिटी मैनेजमेन्ट के द्वारा जमा कराने के लिये सीएसएमसीएल रायपुर द्वारा अनुबंध किया गया है व बैंक के द्वारा नियुक्त नही किया गया है। एक्सीस बैंक के कैशियर राकेश प्रसाद जो कैश भुगतान प्राप्त करता है इस संबंध मे पुछताछ पर जानकारी लेने पर आरोप स्वीकार करते हुये बताया कि टॉप सिक्योरिटी फैसिलिटी मैनेजमेन्ट एजेन्सी के कर्मचारियों को उक्त सभी पावती बिना नकद राशि प्राप्त किए प्रदान की गई है। पावती देने के एवज में उसे कमीशन प्राप्त होना बताया एवं टॉप सिक्योरिटी फैसिलिटी मैनेजमेन्ट एजेन्सी के कर्मचारी व बैंक के कैश सोर्टर ज्वाला प्रसाद को भी हेराफेरी रकम मे से हिस्सा मिलना बताया।

1,27,53,030 रू० धोखाधड़ी राकेश प्रसाद एवं शाखा के कैश सोर्टर ज्वाला प्रसाद तथा टॉप सिक्योरिटी फैसिलिटी मैनेजमेन्ट एजेन्सी के कर्मचारी ईमेश पाडें के द्वारा शासकीय आबकारी विभाग के शराब बिकी रकम को हमारे एक्सीस बैक मे जमा न कर रसीद देकर आपस मे षडयंत्र पूर्वक गबन कर धोखाधडी ‘शिकायत पर थाना सि०ला० मे अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया है। विवेचना दौरान आरोपीयो से पुछताछ करने पर आरोपी राकेश प्रसाद ने 10 प्रतिशत के हिसाब से 12 से 15 लाख रूपये जिसमे से अपने गांव समोगर देवरिया उ.प्र. में एक जमीन 04 लाख रूपये मे जिसकी छायाप्रति कागज अपने घर में एवं 180000 रूपये देकर कार कमांक सीजी 10 बी के 1116 व एक एप्पल फोन उपयोग के लिये फीज वाशिग मशीन पलंग तथा सोने का कान का बाली व चांदी का पायल खरीदना व कुछ पैसे को घरेलू सामान के लिये खर्च करना तथा आरोपी जवाला प्रसाद के द्वारा गबन किया 12 से 15 लाख रूपये में शादी एक माह पहले किया है। व कुछ हिस्से का रकम खर्च करना व कुछ रकम को खाने पीने व घरेलू खर्च एवं कुछ रकम घर रखना तथा आरोपी ईमेश पाडे द्वारा गबन किया हुआ 10 से 12 लाख रूपये को अपने घरेलू खर्च व स्वयं के खाने पीने में खर्च कर दिया हूं कुछ रकम घर में हो सकता बताते हुये लेख कराया गया। प्रकरण में सभी आरोपीयों से धोखाधडी तथा गबन किये गये रकम की विस्तृत पूछताछ अभी शेष है जिसके लिये पुलिस रिमाण्ड लिया जा रहा है।
00 आरोपियों के नाम
राकेश प्रसाद पिता स्व. चंद्रीका प्रसाद उम्र 39 वर्ष पता ग्राम समोगर पोस्ट देवरिया थाना देवरिया जिला गोरखपुर उम्र हा.मु. डी12परिजात कॉलोनी रिंग रोड न.-2 थाना सि.ला जिला बिलासपुर
ज्वाला प्रसाद लगाडें पिता स्व.शंकर लाल लगाडे उम्र 28 वर्ष पता बहतराई निखिल आश्रम, अटल आवास क्या. पी / 22 थाना सरकण्डा बिलासपुर
ईमेश पाण्डेय पिता पिता राजेद्र प्रसाद पांडेण्य उम्र 23 वर्ष पता ग्राम खैरा स्कूल के पास थाना सीपत, बिलासपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here