छत्तीसगढ़

परीक्षा पे चर्चा के दौरान पीएम मोदी ने सुकमा की छात्रा उमेश्वरी को अपने पास बैठाया, कांकेर के शेख कैफुर रहमान ने पूछा प्रश्न

रायपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के सोमवार को परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम के अंतर्गत देशभर के विद्यार्थियों से बात की। उन्होंने बच्‍चों को परीक्षा के समय तनाव से दूर रहने के लिए कई गुरुमंत्र दिए। यह सातवां मौका था, जब पीएम मोदी ने विद्यार्थियों से बात की। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के भारत मंडपम में आयोजित इस कार्यक्रम में सुकमा की छात्रा उमेश्वरी ओटी भी शामिल हुई। प्रधानमंत्री मोदी ने उमेश्वरी को बुलाकर अपने पास बैठाया। इस दौरान उमेश्वरी बस्तर की पारंपरिक परिधान पहनी हुई नजर आई। उमेश्वरी अभी सरस्वती शिशु मंदिर में कक्षा नवमीं की छात्रा है। उनके पिता जिले के ही एक सरकारी स्कूल में शिक्षक है।

कांकेर के छात्र ने मोदी से पूछा प्रश्न

कांकेर के जवाहर नवोदय विद्यालय ने पढ़ने वाले छात्र शेख तैफुर रहमान ने भी प्रश्न पूछा। उन्होंने पूछा कि परीक्षा के दौरान तनाव महसूस करते हैं। इस दौरान गलतियां भी होती है। इन गलतियों से बचने के लिए क्या करना चाहिए? छात्र के जवाब में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि किसी भी शिक्षक के मन में जब ये विचार आता है कि मैं छात्र के इस तनाव को कैसे दूर करूं? अगर शिक्षक और छात्र का नाता परीक्षा के कालखंड का है तो सबसे पहले वो नाता सही करना चाहिए। छात्र के साथ आपका नाता पहले दिन से परीक्षा आने तक निरंतर बढ़ते रहना चाहिए तो शायद परीक्षा के दिनों में तनाव की नौबत ही नहीं आएगी। आज मोबाइल का जमाना है क्या कभी किसी छात्र ने आपको फोन किया है? जिस दिन आप पाठ्यक्रम से आगे निकलकर उससे नाता जोड़ोगे तो वो अपनी छोटी-मोटी समस्याओं में भी आपसे अपनी मन की बात करेगा।

 

इधर, राजधानी रायपुर के पंडित दीनदयाल उपाध्याय आडिटोरियम में परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम का प्रसारण किया गया है। इसमें मुख्यमंत्री साय और शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल शामिल हुए।

R.O. No. 12710/ 17

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button