रायपुर। छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर में कार्मेल स्कूल में पढ़ने वाली छटवीं की होनहार छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। 12 वर्षीय छात्रा का शव घरके पंखे में लटका मिला। मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है। छात्रा ने अंग्रेजी में लिखे सुसाइड नोट पर स्कूल की शिक्षिकाओं पर प्रताड़ना और जानबूझकर परेशान करने का आरोप लगाया है। इस घटना के बाद स्कूल में पढ़ने वाली बच्चो के पालकों ने स्कूल का घेराव कर दोषी शिक्षिकाओं को कड़ी सजा की मांग को लेकर जमकर हंगामा किया।

दरअसल, ये पूरा मामला अम्बिकापुर शहर के कार्मेल स्कूल की है। मृतिका छात्रा का नाम दर्री पारा निवासी अर्चिशा सिन्हा था। छात्रा स्कूल की टॉपर और होनहार छात्रा थी। बीते मंगलवार रात छात्रा ने घर के पंखे में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना की जानकारी के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। पुलिस ने छात्रा के कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद किया है।

नोट में स्कूल की शिक्षिकाओं पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। बच्ची ने नोट में लिखा कि सिस्टर मर्सी बहुत बुरी और डेंजरस है। सिस्टर के द्वारा उसे काफी परेशान किया जा रहा है। उसके पास अब मरने के अलावा और कोई रास्ता नहीं बचा है। वो मरकर बदला लेगी।

छात्रा के परिजनों ने भी मामले में कार्रवाई करते हुए शिक्षिका को गिरफ्तार करने की मांग की है। इधर होनहार छात्रा की मौत की खबर के बाद आज सुबह परिजनों के साथ भाजयुमो ने भी स्कूल परिसर में जमकर प्रदर्शन किया साथ हो दोषी शिक्षिकाओं पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। फिलहाल पुलिस मामले में जांच कर रही है और जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई पुलिस द्वारा की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here