छत्तीसगढ़

Cg News: पकड़ा गया तेंदुआ…आदमखोर तेंदुए की वजह से दहशत में थेे ग्रामीण… वन विभाग व ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर । मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले के मनेन्‍द्रगढ वन मंडल के जनकपुर परिक्षेत्र में पिछले कई दिनों से दहशत फैलाने वाले आदमखोर तेंदुआ आखिरकार मुर्गे की लालच में वन विभाग द्वारा बिछाए गए जाल में फंस ही गया। तेंदुए के पकडे जाने से वन विभाग की टीम व ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। तेंदुए को पकड़ने के लिए एक्सपर्ट टीम ने हाथियों के सहारे लगातार प्रयास किया।

वन विभाग की टीम ने तीन जाल नौढिया और सिंगरौली में लगाया था। हर पिजड़े में मुर्गा रखा गया था। इसके अलावा तेंदुए को पकडनेे के लिए अचानकमार टाइगर रिजर्व के डाग नेरो की भी मदद ली गई। नेरो ने ही पंजेे के निशाान को सूंघकर उस जगह पर टीम को ले गया, जहां तेंदुआ था। इसी के करीब पिंजरे को रखा गया था। पिंजरे के अंदर मुर्गे को बांध दिया गया था। इसी को खाने के लालच में तेंदुआ फंस गया। इस आदमखोर तेंदुए की वजह से यहां के ग्रामीणा काफी दहशत में थेे। आदमखोर तेंदुए ने चार लोगों मारने के साथ एक मासूम को घायल कर चुका था।17 जनवरी को इसके हमले से कुंवारी ग्राम के रमदमन बैगा की मौत हो गई थी। घटना से नाराज ग्रामीणों ने शव का पीएम न कराने की जिद पर अडे थे। ग्रामीणाें ने वन विभाग से मांग की थी कि तेंदुए को पकड़ा जाए या फ‍िर उसे मार दिया जाए।

 

तेंदुए के कारण स्‍थगित हो गया था मेला
आदमखोर तेंदुए ने पूरे गांव में इस कदर दहशत मचा रखी थी कि इसकी वजह से जनकपुर में लगे सात दिवसीय मेले को 17 जनवरी को स्‍‍थगित कर दिया गया था। चूंकि मेला गांव सेे हटकर जंगल किनारे लगा था। ऐसे में तेंदुआ कहीं वहां न पहुंच जाए। इसलिए प्रशासन द्वारा यह निर्णय लिया गया था। क्षेत्रीय विधायक गुलाब कमरो लगातार इस रेस्‍क्‍यू आपरेशन की जानकारी ले रहे थे। रेस्‍क्‍यू सफल होने के बाद विधायक प्रतिनिधि अंकुर प्रताप सिंह ने कहा कि तेंदुआ पकड़ में आ गया है। मेला अब विधिवत 20 जनवरी तक चलेगा। वहीं वन विभाग नेे भी ग्रामीणों से अपील की है कि अब घबराने की कोई बात नहीं है।

R.O. No. 12710/ 17

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button