विदेश

सेना करती है आतंकियों की फंडिंग

रायगढ़ टॉप न्यूज 01 दिसंबर। इस्लामाबाद: एक बार फिर पाकिस्तानी सेना की पोल खुली है. हालांकि इस बार पाकिस्तान की नेता की बेटी ने अपनी ही सेना की आलोचना की है. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी की नेता शिरीन मजारी की बेटी ईमान मजारी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया जो वायरल हो चुका था.

ईमान ने अपने वीडियो में कहा, ‘सेना पर शर्म आती है, क्योंकि पाकिस्तानी सेना सिर्फ खादिन हुसैन रिजवी जैसे आतंकियों की भाषा समझती है. हमें भी सेना तक संदेश पहुंचाने के लिए ऐसी ही भाषा का इस्तेमाल करना होगा. इस तरह की सेना पर लानत है जो उन लोगों को पैसादे रही है जो पाकिस्तान में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं. मैं सेना ऐसी सेना की निंदा करती हूं जो हमारे शहीदों का अपमान कर रही है.’

ईमान ने आगे कहा, ‘पाकिस्तानी सेना आतंकवादियों को फंडिंग देती है. सेना लोगों के जीवन को नरक बनाने के लिए आतंकवादियों को पैसे देती है. मैं सेना की निंदा करती हूं क्योंकि वह अभी भी समझ नहीं पा रही कि आतंकवाद को समर्थन देने से उनका देश तबाह हो रहा है. पाकिस्तानी लोग अब आतंकियों के हाथ की कठपुतली बन गए हैं. वे आतंकियों की मांगे मानते हैं. क्या यह हमारा देश है, हमारा समुदाय है? इस सेना ने इस देश को बर्बाद कर दिया.’

वीडियो में ईमान ने हाल ही में फैजाबाद में चरमपंथियों के धरना प्रदर्शन में पाकिस्तानी सेना की भूमिका को लेकर सेना की आलोचना की. फैजाबाद धरने के दौरान हजारों इस्लामिक कट्टरपंथियों ने इस्लामाहाद-रावलपिंडी की ओर जाने वाले प्रमुख रास्तों को ब्लॉक कर दिया था और कानून मंत्री के इस्तीफे की मांग की थी. यह धरना कानून मंत्री जाहिद हामिद के इस्तीफे के बाद ही खत्म हुआ था. धरने में शामिल तहरीक-ए-लब्बैक रसूल अल्लाह के चीफ खादिम हुसैन रिजवी ने बाद में खुलासा किया था कि सेना ने उन्हें सुनिश्चित किया था कि सरकार उनकी शर्तें मान लेगी.

हालांकि, ईमान की मां शिरीन मजारी ने अपनी बेटी के इस बयान से खुद को अलग कर लिया है. ट्विटर पर ही शिरीन ने कहा कि उनकी बेटी के विचारों से उनका लेना-देना नहीं और वह अपनी बेटी की भाषा की निंदा करती हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close