छत्तीसगढ़

भाजपा ने जताई ओजस्वी मंडावी की हत्या की आशंका , निर्वाचन आयोग में की शिकायत

रायपुर। भाजपा के सांसद सुनील सोनी, विधायक बृजमोहन अग्रवाल, भाजपा प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने, नरेश गुप्ता, संदीप शर्मा और सत्यम दुवा ने मंगलवार को निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू से मुलाकात करके छह बिंदुओं का ज्ञापन सौंपा। इसमें मुख्य रूप से दंतेवाड़ा की भाजपा प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी की हत्या की आशंका जताते हुए, कलेक्टर पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए उनको हटाने की फिर से मांग रखी। इसी के साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप भी लगाया।

ज्ञापन में बताया गया है, भाजपा प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी की जान काे गंभीर खतरा है। जिला प्रशासन की भूमिका को संदिग्ध बताते हुए कहा गया है, चुनाव प्रचार के लिए किरंदुल में ओजस्वी मंडावी को जेड प्लस सुरक्षा होने के बाद भी उनके सुरक्षाकर्मियों के लिए गेस्टहाउस में कमरे नहीं दिए गए। ऐसे में भाजपा प्रत्याशी की हत्या की उच्चस्तर पर साजिश की आशंका जताई गई है।

प्रचारकों को प्रचार में जाने से रोका
भाजपा नेताओं का कहना है कि पार्टी के स्टार प्रचारकों डॉ. रमन सिंह, अजय चंद्राकर, ‌शिवरतन शर्मा, केदार कश्यप, महेश गागड़ा, राजेश मूणत सहित हमारे कई प्रचारकों को चुनाव प्रचार में जाने से जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा बाधित किया जा रहा है। मंगलवार को जिला निर्वाचन अधिकारी पर स्टार प्रचारकों की सभाएं, रोड शो के लिए अनुमति लेने गए प्रतिनिधिमंडल को बार-बार समय देकर न मिलने का आरोप लगाते हुए कहा गया, अगर अनुमति नहीं दे सकते हैं तो स्पष्ट रूप से मना कर दें। कलेक्टर पर मुख्यमंत्री का रिश्तेदार होने का आरोप लगाते हुए एक बार फिर से उनको हटाने की मांग की गई है। भाजपा नेताओं का कहना है कि कलेक्टर के रहते निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है। ज्ञापन में भाजपा के कार्यकर्ताओं को डराने-धमकाने का भी आरोप लगाया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close