छत्तीसगढ़

असफलता, परेशानी और चुनौती का जीवन में बहुत महत्व है- ओपी चैधरी

राजिम: बुधवार को राजिम के प्रेम रतन पैलेस में युवाओं को कैरियर गाईड लाईन कार्यक्रम का आयोजन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा आयोजित किया गया था। कार्यक्रम में युवाओं को कैरियर के बारे में गाईड लाईन देने पूर्व कलेक्टर ओपी चैधरी मुख्य रूप से उपस्थित थे। इस अवसर पर ओपी चैधरी ने कहा कि असफलता और कठिनाई का जीवन में बहुत महत्व है। यदि आपके सामने कठिन परिस्थिति दिखता है, तो भगवान का धन्यवाद दें। चैधरी ने कहा कि परेशानी और चुनौती को उल्टा मानकर चलें। तभी एक दिन बहुत सफल होंगे, क्योंकि असफलता ही सफलता की पहली सीढ़ी है। कहा कि आत्म विश्वास और धैर्य के साथ ही दृढ़ निश्चय शक्ति रखकर बड़ी सोच के साथ आगे बढ़िए। सफलता आपके कदम चूमेगी।

यह मानकर चलें कि असफलता आगे बड़ी सफलता देगी। चैधरी ने कहा कि अपने जीवन में सफलता का सूत्र स्वयं को खोजना होगा। इस दौरान उन्होंने एक से बढ़कर एक उदाहरण प्रस्तुत किए। उदाहरण सुन-सुनकर पैलेस हॉल में मौजूद छात्र-छात्राएं रोमांचक होकर खूब तालियां बजाई। चैधरी ने कहा कि हर व्यक्ति में बहुत संभावना रहती है। ये जो जीवन है इसके महत्व को समझो और यह सोचकर चले कि हम कितना कुछ अभी कर सकते हैं? उन्होंने स्वामी विवेकानंद के संदर्भ में कहा कि उनका जीवन कोहिनूर की तरह रहा। चैधरी ने पत्थर का उदाहरण भी दिया। बताया कि उसकी कीमत भाजी और केला बेचने वाले के नजर में कुछ और है, वहीं सुनार और जौहरी के नजर में कुछ और।

इसके साथ ही कहा कि गर मनुष्य सर्व गुण सम्पन्न है और उसमें घमंड भरा हुआ है, तो सब बेकार है। अच्छी बातों को जीवन का हिस्सा बनाएं। सफल होने से कोई रोक नहीं सकेगा। फेल-पास होने से किसी व्यक्ति का जीवन निर्धारित नहीं होता। परीक्षा में फेल हो जाना यह जीवन का अंत नहीं होता। हमने 23 साल की उम्र में आईएएस की परीक्षा पास कर लिया था। बताना चाहूंगा कि रायगढ़ से 20 किमी अंदर हमारा गांव है। हमने प्रारंभिक पढ़ाई बहुत ही गए-गुजरे स्कूल में की है। बरसात होता था, तो घुटने तक पानी भर जाया करता था।

छुट्टी हो जाया करती थी। कलेक्टर की नौकरी छोड़कर समाज और देश के लिए काम कर रहा हूं। इसमें मुझे काफी संतुष्टि है। चैधरी ने कहा कि विद्यार्थी जीवन सबसे महत्वपूर्ण समय है। लिहाजा समय को न गंवाए, इसे समझे और लक्ष्य निर्धारित करें। सफलता अवश्य मिलेगी। कार्यक्रम प्रारंभ होने के पहले चैधरी जैसे ही आयोजन स्थल पर पहुंचे तो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र-छात्राओं ने बहुत ही गर्मजोशी के साथ उनका स्वागत किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close