खेलदेश

न्यूजीलैंड की राह कठिन, वर्ल्डकप में 40 साल से इस स्टेडियम पर अजेय है भारतीय टीम, टॉस होगा अहम

मैनचेस्टर: क्रिकेट विश्वकप का जोश अपने उफान पर है और दुनिया के तमाम क्रिकेट प्रेमियों की निगाहें आज मैनचेस्टर के ओल्ड टेफोर्ड स्टेडियम पर भारत और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले पहले सेमीफाइनल मैच पर है. इस मैच को जीतकर जहां भारतीय टीम चौथी बार फाइनल में प्रवेश करना चाहेगी वहीं न्यूजीलैंड की टीम जीत के साथ 2015 के इतिहास को दोहराना चाहेगी. बता दें कि न्यूजीलैंड की टीम अभी तक एक भी बार वर्ल्डकप नहीं जीती है और भारतीय टीम दो वर्ल्डकप जीत के साथ अनुभव के रास्ते पर न्यूजीलैंड से आगे है.

टॉस का रोल है अहम

इस वर्ल्डकप में आईसीसी का पूरा जोर ऐसे पिच बनाने पर था जहां 100 ओवर के खेल में दोनों टीमों को बराबर का मौका मिले. हालांकि, रिकॉर्ड के अनुसार देखें तो आईसीसी अपने इस लक्ष्य के अनुसार पिच बनाने में शायद नाकामयाब रही है. वर्ल्डकप के आखिरी के 20 मैचों में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम 16 बार जीती है और दूसरी पारी में बैटिंग करने वाली टीमों को सिर्फ चार मैच में जीत मिली है. हालांकि, आज के सेमीफाइनल मुकाबले के लिए पिच को नए सिरे से तैयार किया गया है. इससे उम्मीद की जा रही है कि दोनों ही टीम को पिच से समान फायदा मिले.

ओल्ड टैफर्ड मैदान पर भारत का रिकॉर्ड

इस वर्ल्डकप में भारतीय टीम मैनचेस्टर के ओल्ड टैफर्ड स्टेडियम पर दो मैच खेल चुकी है और भारत को इन दोनों ही मैचों में जीत मिली है. इस पिच पर तेज गेंदबाज ज्यादा सफल रहे हैं. तेज गेंदबाजों को यहां 63 विकेट मिले हैं वहीं, स्पिन गेंदबाज 25 विकेट लेने में कामयाब हुए हैं.

ओल्ड ट्रैफोर्ड पर रोहित और कोहली का बल्ला बोलता है

ओल्ड टैफर्ड के स्टेडियम पर भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा के साथ टीम के कप्तान विराट कोहली का भी बल्ला बोलता है. रोहित शर्मा ने इसी टूर्नामेंट में जहां पाकिस्तान के खिलाफ 140 रन बनाए थे, वहीं विराट कोहली ने भी 77 रन की पारी खेली थी.

वर्ल्ड कप में 40 साल से अजेय है भारत

ओल्ड टैफर्ड पर भारत ने अबतक सात मैच खेले हैं. इसमें से टीम को पांच में जीत मिली है. ये रिकॉर्ड आज के मैच में भारत की दावेदारी को और पुख्ता करते हैं. यहां ये भी बता दें कि ओल्ड टैफर्ड के स्टेडियम पर भारत आखिरी बार 1979 में हारी थी.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close