छत्तीसगढ़

हरियर छत्तीसगढ़ योजना के तहत कबीरधाम जिले में लगाए जाएंगे 4.25 लाख पौधे आंगनबाड़ी, स्कूल, आश्रम और छात्रावासों के लिए 40 हजार मुनगा के पौधे तैयार

कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में पौधा रोपण की तैयारियां शुरू करने के निर्देश दिए

कवर्धा : विभिन्न किस्मों के पौधो तैयार कर लिया गया है। नर्सरियों में तैयार किए गए विभिन्न प्रजातियों की पौधों की किस्मों में साल-सैगोन, आवंला, अर्जुन, करंज, नीम, आम, गुलमोहर सहित अन्य पौधें शाामिल है। इसके अलावा उद्यान विभाग की नर्सरियों में 60 हजार मुनगा के पौधे भी तैयार कर लिया गया हैं। मुनगा के पौधे जिले के सभी स्कूल, आंगनबाड़़ी, आश्रम, छात्रावास एवं स्वास्थ्य केन्द्र भवनों के खाली भूखण्डों में रोपण किया जाएगा।

शासकीय संस्थानों के अलावा जिले के सभी ग्राम पंचायतों में विभिन्न किस्मों के सौ पौधें भी किसानों के लिए निःशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। किसानों द्वारा पौधों को उनके खेतों में लगाने के लिए प्रेरित भी किया जाएगा। साथ ही जिले के सभी गौठानों, नदी, नरवा के किनारे भी वृहद स्तर पर पौधे रोपण किया जाएगा। ग्राम पंचायतों में पौधा रोपण की जिम्मेदारी जिला स्तरीय ग्राम नोडल अधिकारियों को दी गई है। इसके अलावा जिले के प्राथमिक स्कूलों में किचन गार्डन तैयार करने का लक्ष्य भी रखा गया है।

इसके लिए शिक्षा विभाग को आवश्यक दिशा-निर्देेश दिए गए है। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने समय-सीमा की बैठक में शामिल विभिन्न एजेंड़ों के अलावा कबीरधाम जिले में इस वर्ष हरियर छत्तीसगढ़ कार्यक्रम के तैयार लाएंगे जाने वाले पौधारोपण की तैयारियों की समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि वन विभाग की नर्सरियों में विभिन्न प्रजातियों के चार लाख 25 हजार पौधें रोपणी के लिए तैयार कर लिए गए। इसी तरह उद्यान विभाग की नर्सरियों में 60 हजार मुनगे के पौधे रोपणी के तैयार कर लिया गया है।

कलेक्टर ने वन विभाग, पंचायत एवं ग्रमीण विकास विभाग और ग्राम पंचायतों के लिए नियुक्त जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि मानसून आने से पहले पौधा रोपण की आवश्यक तैयारी करे लें। उन्होने महिला एवं बाल विकास विभाग, स्कूली शिक्षा विभाग और आदिम जाति विकास विभाग के अधिकारियों को आंगनबाडी, स्कूल, आश्रम एवं छात्रावासों तथा स्वास्थ्य केन्द्रों के खाली भू-खण्डों में बडे पैमाने में मुनगा के पौधे लगाने की तैयारी करने के निर्देश दिए है।

कलेक्टर ने इसके अलावा जिले के सभी ग्राम पंचायतों में मुनगा के अलावा अन्य किस्मों के सौ-सौ पौधे किसानों का निःशुल्क उपलब्ध कराने के लिए कहा है। कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को जिले के स्कूलों में किचन गार्डन तैयार करने के लिए आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि जिले के ऐसे स्कूलों में किचन गार्डन तैयार किए जाएंगे, जहां पानी और सुरक्षा के लिए बाउड्रीवॉल हो।

कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में जिले के सभी शासकीय उचित मूल्य दूकानों में राशन की भण्डारण, वितरण की जानकारी ली। उन्होने जिले के ग्रामीण तथा कस्बाई क्षेत्रों के संधारित किए जा रहे सड़कों की जानकारी ली। कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय अधिकारियों को उचित मूल्य दुकानों में राशन समाग्रियों के भण्डारण और वितरण कार्यों निर्धारित समय में सुचारू रूप से वितरण की कार्यवाही सुनिचित कराने के निर्देश दिए।

उन्होने गुणवत्तापूर्ण सड़कों के संधारण कार्य कराने तथा संधारित हो चुके संड़कों का भौतिक सत्यापन करने के भी निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि जून माह का राशन समाग्रियों का शत-प्रतिशत भण्डारण कर लिया गया है। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार सर्व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close