खेलदेश

युवराज सिंह ने लिया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास, अब कैंसर पीड़ितों की करेंगे मदद

मुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम की शान रहे युवराज सिंह ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय किक्रेट से सन्यास की घोषणा कर दी. अपने खेल के शिखर पर कैंसर के शिकार हुए युवराज ने आने वाले दिनों में कैंसर पीड़ितों की मदद करने की बात कही.
मुंबई के होटल में अपने सन्यास को घोषणा करते हुए युवराज सिंह ने कहा कि 25 साल 22 यार्ड के बीच और उसके आसपास बिताने के बाद और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 17 साल अंदर-बाहर रहने के बाद मैने तय किया कि अब आगे बढ़ना है. इस खेल ने मुझे बताया कि कैसे संघर्ष करना है, कैसे गिरना है, धूल को झाड़ना है, खड़े होना है और आगे बढ़ना है.

युवराज सिंह ने घोषणा के बाद पत्रकारों से चर्चा में कहा सन्यास के पीछे प्रदर्शन के साथ-साथ टीम में अवसर नहीं मिलने को भी वजह बताते हुए कहा कि जिंदगी में सबकुछ नहीं मिलता. मैने पिछले साल ही सोच लिया था कि यह आईपीएल 2019 मेरा अंतिम आईपीएल होगा. उन्होंने आने वाले दिनों में कैंसर पीड़ितों की मदद करने की बात कही.

जानदार-शानदार रहा क्रिकेट करियर
युवराज सिंह ने अपने 17 साल के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में 40 टेस्ट मैच, 304 एक दिवसीय मैच और 58 टी-20 मैच खेले हैं. युवराज ने 40 टेस्ट मैचों में 62 पारियों में 58.00 के स्ट्राइक रेट से 33.9 के औसत से 1900 रन बनाए हैं. इसमें 3 शतक और 11 अर्द्धशतक शामिल है. उन्होंने अंतिम टेस्ट 2012 में खेला था.

युवराज ने 304 वन डे मैचों में 278 पारियां खेली हैं, जिसमें उन्होंने 87.7 के स्ट्राइक रेट से 36.5 रन के औसत से 8701 रन बनाए. इसमें 14 शतक और 52 अर्द्धशतक शामिल है. सर्वाधिक स्कोर 150 रन का है. वहीं 58 टी-20 मैचों में युवराज ने 136.4 के स्ट्राइक रेट से 28 रन के औसत से 1177 रन बनाए हैं. इसमें 8 अर्द्धशतक शामिल है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close