छत्तीसगढ़

बड़ी वारदातों का मास्टर माइंड नक्सली कमांडर अर्जुन ने किया सरेंडर,8 लाख का इनाम घोषित नक्सली

सुकमा। सुकमा जिले में एक बार फिर नक्सलियों को बड़ा नुकसान हुआ है। 8 लाख के इनामी कोन्टा एरिया में नक्सली संगठन में सचिव रह चुके नक्सली कमांडर मड़कम अर्जुन ने सुकमा एसपी जितेन्द्र शुक्ला के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है।

नक्सली कमांडर मड़कम अर्जुन कई बड़े नक्सली हमलों में अहम भूमिका निभा चुका है। लम्बे समय से अर्जुन नक्सलियो की कोन्टा एरिया कमेटी का पूर्व चीफ़ रह चुका है। पुलिस ने अर्जुन पर 8 लाख का इनाम घोषित किया था। अर्जुन पिड़मेल का स्थाई निवासी।

शुक्रवार यानी एसपी जितेंद्र शुक्ला के सामने अर्जुन ने सरेंडर कर दिया इसके दो दिन पहले ही नक्सलियों ने पर्चा जारी कर नक्सलियों को धोखा देने के आरोप में नक्सलियो ने अर्जुन को जनअदालत में सज़ा देने की धमकी भी दी थी।

छग पुलिस के लिए अर्जुन के सरेंडर को सबसे बड़ी सफलता मानी जा रही है क्योंकि अर्जुन सुकमा की कसलपाड़, पिड़मेल, भेज्जी हमले जैसी बड़ी वारदातों में शामिल रहा है और कई बड़े खुलासे भी अर्जुन पुलिस के सामने कर चुका है।

दो दिन पहले डीवीसी कमांडर अर्जुन को जन अदालत में सजा देने का ऐलान किया गया है। इस संबंध में नक्सली सचिव विकास के हस्ताक्षरित एक फरमान जारी हुआ है। नक्सलियों ने जारी किये गए प्रेस नोट में बताया है कि 2001 से अर्जुन नक्सली संगठन मे शामिल हुआ था। 2012 से 2015 तक अर्जुन कोन्टा एरिया कमेटी कमांडर था।

नक्सलियों का आरोप है कि डीवीसी कमांडर अर्जुन ने पुलिस के सामने घुटने टेक दिए। नक्सलियों का आरोप है कि अर्जुन ने उसके विचारधारा को बीच में ही छोड़कर पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। इस बात से वे बेहद खफा हैं, इसलिए अर्जुन को जन अदालत में सजा दी जाएगी। इधर पुलिस ने अर्जुन के सरेंडर करने की पुष्टि नहीं की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close