विदेश

चीन-हांगकांग के बीच विश्व का सबसे लंबा समुद्री पुल तैयार, ये हैं दुनिया के लंबे समुद्री पुल

चीन-हांगकांग के बीच विश्व का सबसे लंबा समुद्री पुल तैयार, ये हैं दुनिया के लंबे समुद्री पुल

ऐसे हुआ तैयार
चीन ने 55 किमी लंबा समुद्री पुल बनाकर पूरी दुनिया को चौंका दिया है। यह दुनिया का सबसे लंबा समुद्री पुल है। पुल हांगकांग को चीन के दक्षिणी शहर झूहाई और मकाउ के गैमलिंग एनक्लेव से जोड़ेगा। नौ साल से बन रही इस पुल को बनाने में एफिल टावर के मुकाबले 60 गुना ज्यादा स्टील खर्च हुआ है।

चीन की सरकारी मीडिया के अनुसार इसकी तैयारी में छह साल लग गये और 31 दिसबंर 2017 को इसका काम पूरा हुआ। दुनिया के इस सबसे लंबे पुल पर पैदल सवार नहीं चल सकेंगे। वहीं चीन से जाने वाली कार को हांग कांग में घुसने से पहले रोड में अपनी साइड बदलनी होगी। क्योंकि हांग कांग में भारत की तरह ट्रैफिक बायीं तरफ चलता है। इसमें पानी के नीचे बनी 6.7 किलोमीटर लंबी सुरंग का निर्माण भी किया गया जो दो कृत्रिम द्वीपों को जोड़ती है।

 

समय की बचत
हांगकांग से चीन के शहर जुहाई की यात्रा में 3 घंटे का समय लगता है। पुल शुरू होने के बाद यात्रा में 30 मिनट का समय लगेगा।

यह पुल हांगकांग और मकाऊ समेत दक्षिण चीन के 11 शहरों को जोड़ता है। जहां 6.8 करोड़ लोगों के घर हैं। साथ ही ये अगले 120 सालों तक इस्तेमाल किया जा सकेगा और कारोबार में इजाफा करेगा। यात्रा में लगने वाला समय 60 फीसद तक घटेगा।

नियम
हांगकांग में निजी कार मालिक विशेष परमिट के बिना पुल पार नहीं कर पाएंगे। इसके लिए उन्हें कार को हांगकांग बंदरगाह पर पार्क करना होगा। फिर शटल बस सेवा या विशेष कारों की मदद लेनी होगी। एक ट्रिप के लिए शटल बसें 8 से 10 डॉलर वसूल करेंगी। इस पुल पर पैदल यात्री नहीं चल सकेंगे।

दुर्घटना
पुल निर्माण शुरू होने के बाद से सात श्रमिकों की मौत हो चुकी है। जबकि 129 लोग घायल हो चुके हैं। उनमें से ज्यादातर दुर्घटनाएं उच्च ऊंचाई से गिरने से हुई।

दुनिया के कुछ लंबे समुद्री पुल

डोंगहाई पुल:
चीन में स्थित यह पुल शंघाई और यांगशान में स्थित बंदरगाह को जोड़ता है। इसकी लंबाई 32.5 किमी है। यह 2005 में बनकर तैयार हुआ था।

हांग्जो खाड़ी पुल:
यह पुल 2007 में बनकर तैयार हुआ था। यह 35.7 किमी लंबा है और यह हांग्जो खाड़ी पार करके चीन में निंग्बो और शंघाई शहर को जोड़ता है। यह केबल से बना पुल है।

किंग फहद:
यह पुलों और पक्की सड़कों की एक श्रंखला है, जो सऊदी अरब और बहरीन को जोड़ती है। उनकी कुल लंबाई 25 किमी है और इसका निर्माण 1986 में समाप्त हुआ था।

बांद्रा-वर्ली समुद्र लिंक (आधिकारिक नाम राजीव गांधी समुद्र लिंक):
यह आठ लेन पुल है, जो मुंबई के पश्चिमी उपनगरों में बांद्रा को दक्षिण मुंबई में वर्ली के साथ माहिम की खाड़ी को जोड़ता है। इसकी कुल लंबाई 5.6 किमी है। 2010 में यह बनकर तैयार हुआ था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close