छत्तीसगढ़

बीजेपी व कांग्रेस की धड़कनें हुईं तेज, बसपा सुप्रीमो मायावती 13 अक्टूबर को पहुंचेंगी छत्तीसगढ़, चुनावी प्रचार का करेंगी शंखनाद

रायपुर. आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता लगते ही राजनीतिक दलों में प्रत्याशियों के चयन के लिए कवायद शुरू कर दिया है. ऐसे में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी छत्तीसगढ़ आ चुके हैं. अब बसपा के सुप्रीमो बहन मायावती 13 अक्टूबर को चुनावी रैली को धार देने विरोधियों को ताकत का एहसास कराने बिलासपुर आने वाली है. बसपा व जनता कांग्रेस के बीच गठबंधन होने के बाद प्रदेश व देश में राजनीतिक समीकरण भी बदल गए हैं.

आगामी विधानसभा चुनाव में कर्नाटक के फार्मूला अपनाते हुए क्षेत्रीय दलों से गठबंधन की रणनीति कांग्रेस व बीजेपी की धड़कनें तेज कर दी है. ऐसे में बसपा के कार्यकर्ताओं में जोश व उत्साह दोगुना हो गया है. छत्तीसगढ़ में जनता काँग्रेस के मुखिया अजीत जोगी को मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित कर मायावती ने अपनी राजनीतिक महत्वकांक्षा को आगे रख दिया. पीएम बनने के लिए कांग्रेस के बजाए छोटे दलों से को साथ लेकर चलने की पॉलिसी में मायावती सबसे आगे है. गठबंधन में रायपुर दक्षिण की सीट मिलने के बाद बसपा ने शहरी मतदाताओं के सामने अपने कैडर कार्यकर्ता को इस सीट से उतारने की तैयारी कर रखी है.

राजधानी के चुनावी प्रचार का फायदा प्रदेश के सभी 90 सीटों के लिए सकारात्मक संदेश जाने वाला है. इस सीट से उमेश मानिकपूरी प्रबल दावेदार नजर आ रहें हैं. कबीर पंथी समाज से होने से पिछड़े व एससी मतदाताओं के बीच अच्छी पकड़ बनने जुटे हुए हैं. उमेश मानिकपुरी सभी वार्डों में लोगों की तैयार कर रैली में 5 हजार कार्यकर्ताओं की टीम लेकर पहुंचेंगे. इसके अलावा जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का भी साथ मिलने से रायपुर दक्षिण में बीजेपी के गढ़ माने जाने वाले दिग्ज मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के सामने चुनौती खड़ी करने को तैयार है.

प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश बाजपेयी ने बताया कि राजधानी सहित प्रदेश के कोने-कोने से हर विधानसभा के बूथ स्तर से कार्यकर्ताओं को रैली में शामिल होने तैयारी जोरों से चल रहा है. बसपा व जनता कांग्रेस के कार्यकर्ता गांव गांव घूम रहे है. तो बसपा के राजधानी से दो दावेदार भी अपनी शक्ति प्रदर्शन करने रायपुर पश्चिम से भोजराज गौरखेड़े व रायपुर दक्षिण से उमेश मानिकपूरी शहर के वार्डों में बहुजन समाज को जगाने वोट की ताकत दिखाने लोगों के बीच जा रहें हैं. 13 अक्टूबर को बिलासपुर की रैली में राजधानी से लगभग 20 हजार लोग शामिल होंगे. लोकसभा प्रभारी संजय गजभिये ने बताया कि बसपा इस बार जनता कांग्रेस के साथ मिलकर ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में भी कार्यकर्ता तैयार कर रही है.

बसपा सुप्रीमो मायावती 13 अक्टूबर को बिलासपुर के खेल मैदान में एक बजे से ढाई बजे तक सभा स्थल के मंच पर रहेंगी. शनिवार को बसपा व जनता कांग्रेस की संयुक्त रैली बिलासपुर के सरकंडा के खेल मैदान में सभा को संबोधित कर चुनावी प्रचार का शंखनाद कर उम्मीदवारों के नामों का एलान भी करेंगी. मायावती को जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है. छत्तीसगढ़ सुबह 10 बजे माना एयरपोर्ट विशेष विमान से पहुंचेगी. उसके बाद सीधे एरो ड्रम पुलिस लाइन से हेलीकॉप्टर से बिलासपुर स एससीसीएल हेलीपेड पहुंचेगी. वहां बिलासपुर भवन में ठहरेगी, कार से सभा स्थल एक बजे पहुंचे कर डेढ़ घंटे तक रहेंगे. इसके बाद वापस 3 बजे रायपुर माना एयरपोर्ट से दिल्ली को रवाना हो जाएंगी.
साभार लल्लूराम.कॉम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close