व्यापार

नहीं रुक रही गिरावट, अब 72.98 प्रति डॉलर का हुआ रुपया

ट्रंप ने चीन की बस्तुओं पर  लगाया 10 प्रतिशत का शुल्क 

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने चीन की कुछ और वस्तुओं पर 10 प्रतिशत का शुल्क लगाने की घोषणा के बाद अमेरिकी डॉलर सात सप्ताह के निम्न स्तर पर आ गया था. लेकिन अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भावों में भारी उछाल का रुपया-डॉलर सौदों पर असर ज्यादा दिखा. वैश्विक स्तर पर व्यापार युद्ध भड़कने की आशंकाओं और कच्चे तेल मूल्य में तेजी की वजह से सोमवार से रुपये में 114 पैसों या 1.5 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आई है.

सट्टेबाजी के दबाव में कमजोर हुआ रुपया 

इंटरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में रुपया 72.51 पर कमजोर खुला. शुरूआती उतार चढ़ाव के बाद रुपया 72.35 रुपये तक मजबूत हो गया था. पर उसके बाद अभूतपूर्व सट्टेबाजी के दबाव में रुपया 72.99 रुपये के निम्न स्तर को छूने के बाद अंत में 47 पैसे और 0.65 प्रतिशत की गिरावट के साथ 72.98 रुपये प्रति डॉलर के रिकॉर्ड निम्न स्तर पर बंद हुआ. कल रुपये में 67 पैसों की भारी गिरावट आई थी.

दुनिया की प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले कमजोर हुआ रुपया

दि फाइनेंसियल बेंचमार्क इंडिया प्रा. लि़ (एफबीआईएल) ने इस बीच आज के लिये डॉलर-रुपये की संदर्भ दर 72.3796 रुपये प्रति डॉलर और यूरो के लिये 84.7657 रुपये प्रति यूरो तय की थी. अन्तरमुद्रा कारोबार में रुपये में पौंड, यूरो और जापानी येन के मुकाबले गिरावट आई.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close