छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ ने बनाया एक साथ पन्द्रह राष्ट्रीय पुरस्कारों का नया कीर्तिमान: डॉ. रमन सिंह

गांव, गरीब और किसानों से जुड़ी केन्द्रीय  योजनाओं में राज्य का शानदार प्रदर्शन

केन्द्रीय पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री तोमर ने  इन राष्ट्रीय पुरस्कारों से राज्य को नवाजा 

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, रूर्बन मिशन और मनरेगा में राज्य को राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया

रायपुर/ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज छत्तीसगढ़ को नई दिल्ली में एक साथ विभिन्न केन्द्रीय योजनाओं के तहत 15 राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने पर प्रसन्नता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि यह राज्य के लिए एक गौरवशाली और नया कीर्तिमान है। डॉ. सिंह ने रायपुर में कहा  कि गांव, गरीब और किसानों की बेहतरी से जुड़ी इन केन्द्रीय  योजनाओं में राज्य ने शानदार प्रदर्शन किया है। डॉ. सिंह ने इसके लिए प्रदेशवासियों सहित राज्य के पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री श्री अजय चन्द्राकर और विभाग से सबंधित इन योजनाओं से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले रूर्बन मिशन और प्रधानमंत्री ( ग्रामीण ) आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर इन राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया। केन्द्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में पुरस्कारों का वितरण किया। केन्द्रीय मंत्री के हाथों छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारियों ने राज्य के लिए इन पुरस्कारों को ग्रहण किया। श्री तोमर ने इस बात पर खुशी जतायी कि  छत्तीसगढ़ आज देश में एक साथ सर्वाधिक 15 राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित होने वाला राज्य बना।  केन्द्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री श्री रामकृपाल यादव भी उपस्थित थे। समारोह के मुख्य अतिथि केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने छत्तीसगढ़ सरकार के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री आर. पी. मंडल, सचिव श्री पी. सी. मिश्रा और संचालक पंचायत एवं ग्रामीण विकास संस्थान श्री एम. के. त्यागी को ये पुरस्कार सौंपे। श्री तोमर ने केन्द्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन में छत्तीसगढ़ के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की प्रशंसा की और इन राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह तथा पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर सहित विभाग के सभी अधिकारियों और मैदानी अमले को बधाई दी।

पुरस्कार वितरण समारोह में अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत छत्तीसगढ़ को राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में कठिन परिस्थितियों में पिछले वित्तीय वर्ष में 1700 कि.मी. सड़कों का निर्माण सफलता पूर्वक पूर्ण करने और दूरस्थ क्षेत्रों को बारहमासी सड़क सम्पर्क से जोड़ने पर विशेष पुरस्कार से नवाजा गया।  उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत राज्य को पांच वर्गो में छह पुरस्कार दिए गए। इस योजना में छत्तीसगढ़ का प्रदर्शन पूरे देश मेें सर्वश्रेष्ठ रहा। इसके लिए प्रथम पुरस्कार से राज्य को सम्मानित किया गया। इस योजना के तहत सर्वश्रेष्ठ जिले की श्रेणी में प्रदेश के कोंडागांव जिले को द्वितीय पुरस्कार  और धमतरी जिले को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में ही राज्य के  विकासखंड सारंगढ़ (जिला-रायगढ़) को देश में विकासखण्डों के स्तर पर द्वितीय पुरस्कार मिला।

अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत ग्रामीण राज्य मिस्त्री प्रशिक्षण में  छत्तीसगढ़ राज्य  को द्वितीय पुरस्कार और मैनेजमेंट इंफॉरमंेशन सिस्टम में आधार सीडिंग के लिए को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया। अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत उत्कृष्ट कार्य के आधार पर छत्तीसगढ़  को वर्ष 2016-17 से 2018-19 की अवधि में तीन वर्ष में कुल सात लाख 88 हजार गरीब परिवारों के लिए पक्के मकान बनाने का लक्ष्य दिया गया है।  इनमें से चालू माह सितम्बर के प्रथम सप्ताह में चार लाख मकानों का निर्माण पूरा हो गया है।

इस अवसर पर बताया गया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गांवों को शहरों जैसी बुनियादी सुविधाएं दिलाने के लिए छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के ग्राम कुर्रूभाठ (विकासखंड-डोंगरगढ़) में लगभग ढाई साल पहले 21 फरवरी 2016 को डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन का राष्ट्र व्यापी शुभारंभ किया था। रूर्बन मिशन में आज राज्य को सर्वश्रेष्ठ कार्याें के लिए राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया। महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत राज्य को बेयरफुट टेक्नीशियन (बी.एफ.टी.) प्रशिक्षण में प्रथम पुरस्कार और जियो-टैगिंग में द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया। इस अवसर पर मनरेगा के तहत योजना के तहत जिला जशपुर को तथा राजधानी रायपुर के नजदीक ग्राम निमोरा स्थित ठाकुर प्यारेलाल पंचायत एवं ग्रामीण प्रशिक्षण संस्थान को बी.एफ.टी प्रशिक्षण में उत्कृष्ट कार्य के लिए पुरस्कृत किया गया।

समारोह में छत्तीसगढ़ एनआरयूएम के स्टेट डायरेक्टर श्री नीलेश क्षीरसागर, राज्य ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राकेश चतुर्वेदी, संचालक पंचायत श्री जितेन्द्र शुक्ला, संचालक प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) श्री अमृत विकास टोप्नो, जिला पंचायत रायपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री दीपक सोनी, जिला पंचायत जशपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री कुलदीप शर्मा, कोण्डागांव और रायगढ़ जिला पंचायतों के सीईओ क्रमशः श्री संजय कन्नौजे और चंदन त्रिपाठी सहित अन्य अनेक अधिकारी भी मौजूद थे।

advertisement advertisement advertisement advertisement advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close