रायगढ़

आज से पटरी पर दौड़ेंगी सभी पैसेंजर, 6.25 में छूटेगी जनशताब्दी

रायगढ़ टॉप न्यूज 04 जुलाई। रेलवे का 15 दिवसीय ब्लॉक बुधवार को समाप्त हो गया। एनआई वर्क में लगी टीम ने ओके रिपोर्ट के आधार पर गुरुवार से सभी पैसेंजर ट्रेनें पूर्व की तरह समय से चलेंगी।

इसके साथ ही ब्लॉक व रद्द पैसेंजर की वजह से 30 मिनट की देरी से छूटने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस, अपने तय समय यानी 6.25 में रायगढ़ से छूटेगी। बिलासपुर डिवीजन के आला अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की। ब्लॉक में प्रभावित सभी पैसेंजर व एक्सप्रेस ट्रेनों के परिचालन से यात्रियों को काफी राहत मिलने की बात कही जा रही है। दो सप्ताह बाद रेल यात्रियों के लिए एक राहत भरी खबर है। 20 जून से 4 जूलाई तक चलने वाले 15 दिवसीय रेलवे का ब्लॉक बुधवार की शाम को समाप्त हो गया।

इसके साथ गुरुवार से पूर्व की भांति सभी पैसेंजर ट्रेनें पटरी पर नजर आएगी। वहीं पिछले 12 दिनों से 6.55 में रायगढ़ से छूटकर चांपा तक पैसेंजर बन कर चलने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस अपने तय समय 6.25 में रायगढ़ से छूटेगी। वहीं अपने पूर्व के ठहराव वाले स्टेशनों पर ही रुकेगी। इस बात की पुष्टि बिलासपुर डिवीजन के आला अधिकारी ने भी की। मिली जानकारी के अनुसार चांपा से झारसुगुड़ा तक बिछाए जा रहे तीसरी रेल लाइन का कार्य करीब-करीब ईब तक पूरा होने को है।

ऐसे में, तीसरी रेल लाइन को साइडिंग यार्ड लाइन से भी जोडऩे की पहल की जा रही है। जिससे मालवाहक ट्रेनों का परिचालन में सुविधा हो। इस बात को ध्यान में रखते हुए किरोड़ीमल से रायगढ़ तक बिछाए तीसरी रेल लाइन को यार्ड से जोडऩे का कार्य, इन 15 दिनों के ब्लॉक में पूरा कर लिया गया है।

ब्लॉक के बीच हुए मालगाड़ी हादसे

रेलवे के लिए यह कार्य इसलिए भी अहम था कि किरोड़ीमल व रायगढ़ के बीच जिंदल का साइडिंग हैं। जो रेलवे के राजस्व को बढ़ाने में एक अहम कड़ी का काम करता है। अगर बात करे रद्द पैसेंजर व एक्सप्रेस ट्रेनों की तो इन 15 दिनों में हावड़ा-मुंबई रेल मार्ग से गुजरने वाले सभी ट्रेनों की रफ्तार पर ब्रेक लग गई थी। इस बीच एक बड़ा मालगाड़ी हादसा भी हो गया। जिसमें दो स्टेशन मास्टर को सस्पेंड भी कर दिया है। ऐसे में, एक बार फिर ट्रेनों के परिचालन शुरु होने से यात्रियों को काफी राहत मिलेगी। वहीं इसका प्रभाव स्टेशन पर चहल पहल के रुप में भी देखी जाएगी।

राजस्व में अब होगा इजाफा
15 दिनों के ब्लॉक में रेलवे को बतौर राजस्व भी काफी नुकसान हुआ है। सबसे अधिक नुकसान पैसेंजर ट्रेनों के यात्रा टिकट से मिलने वाले राशि के रुप में दर्ज किया गया है। जानकारों की माने तो 15 दिनों के ब्लॉक में करीब 8-10 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। हलांकि ट्रेनों के सुचारू रुप से परिचालन के साथ उनकी गति सीमा व टाइमिंग को ठीक करने तीसरी रेल लाइन को यार्ड से जोडऩा भी एक अहम कार्य का हिस्सा था। जिसमें बिलासपुर जोन के रायपुर, नागपुर व बिलासपुर डिवीजन के एक्सपर्ट की टीम दिन-रात लगी हुई थी।
-15 दिनों को ब्लॉक बुधवार की शाम समाप्त हो गई है। गुरुवार से सभी एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेनें अपनी समय से चलेंगी। जिससे यात्रियों को रेल सफर के दौरान काफी राहत होगी।
-रश्मि गौतम, सीनियर डीसीएम, बिलासपुर।

advertisement advertisement advertisement advertisement advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close