छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में जाली नोटों की बड़ी खेप बरामद, दो दिनों में 12 लाख रुपए के नकली नोट जब्त

महासमुंद. छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में क्राइम ब्रांच की टीम ने जाली नोटों का धंधा करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए करीब आठ लाख रुपए के नकली नोट बरामद किए हैं। इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। ये सातों लोग महासमुंद जिले के गांवों में रैकेट चलाते थे। बतादें कि दो दिन में छत्तीसगढ़ में नकली नोटों की दूसरी बड़ी खेप पकड़ी गई है।

दरअसल, यह मामला छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले का है, जहां क्राइम ब्रांच की टीम ने बसना थाना के पिरदा गांव और आस-पास के गांवों से करीब 8 लाख कीमत के 2 हजार, 500 और 100 रुपए के नकली नोट बरामद किए हैं। ये सभी जाली नोट महासमुंद में सप्लाई के लिए लाए गए थे।

क्राइम ब्रांच की टीम को इस रैकेट के बारे में जानकारी मिली थी। क्राइम ब्रांच टीम ने बताया कि मुखबिर के मुताबिक पिरदा गांव और आस-पास के गांवों में लगातार नकली नोट खपाने की सूचना मिल रही थी। जिसके बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने महासमुंद के इन गांवों में घेराबंदी कर सात लोगों को गिरफ्तार किया।

क्राइम ब्रांच की टीम ने इसके पास से 2000, 500 रुपए और 100 रुपए के जाली नोट बरामद किए। देखने में ये सभी नोट एकदम असली लगते हैं। क्राइम ब्रांच की टीम ने अंदेशा जताया है कि इन आरोपियों से पूछताछ के बाद जाली नोटों के बड़े रैकेट का पर्दाफाश हो सकता है।

पुलिस ने जाली नोटों की सप्लाई करने वालों में शामिल रायपुर के गौतम कुमार, बलौदाबाजार के कृष्ण कुमार, करनापाली के चमरू पटेल, आरंग के मनमोहन दास, बसना के रूपानंद उर्फ रूपेश, बसना के सुरेंद्र चौहान, बिलखन बसना के कमल बरिहा को गिरफ्तार किया है।

इसके अलावा क्राइम ब्रांच ने इन आरोपियों के पास से एक मारुति वैन, 6 मोबाइल, नकली नोट छापने की मशीन प्रिंटर, सामान कटर और 2000, 500, 100 रुपए के कुल 7,35,500 रुपए के नकली नोट बरामद किया है। बतादें कि एक दिन पहले छत्तीसगढ़ पुलिस ने भिलाई से 4 लाख रुपए के नकली नोटों के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close