छत्तीसगढ़

पुलिस परिवार को राजधानी जाने से रोकने सरकार ने झोंकी ताकत, बसों में चढ़कर जवान यात्रियों से कर रहे पूछताछ

भिलाई. रायपुर में आज होने वाले पुलिस परिवार आंदोलन के धरने में जाने से पुलिसकर्मियों के परिजनों को रोकने प्रशासन अलर्ट हो गया है। दुर्ग संभाग से रायपुर की ओर जाने वाली बसों की चेकिंग के लिए नेशनल हाइवे, बस स्टैंड, ऑटो स्टैंड और रेलवे स्टेशन में सोमवार सुबह से बल तैनात कर दिया गया है।

जगह-जगह जवान सादी और वर्दी में वाहनों की चेकिंग करते नजर आए। दुर्ग संभाग से रायपुर की ओर जाने वाली बसों को जगह-जगह पर रोकर जवान सघन जांच अभियान चला रहे हैं। फिलहाल अभी तक किसी पुलिस परिवार की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

राजनांदगांव और दुर्ग में हाई अलर्ट
पुलिस परिवारों की सबसे ज्यादा संख्या राजनांदगांव और दुर्ग जिले में हैं। जिसके चलते इन दोनों जिलों को पुलिस ने हाई अलर्ट में रखा है। राजनांदगांव, बालोद, बेमेतरा, कबीरधाम और दुर्ग-भिलाई से रायपुर जाने वाली बसों के यात्रियों से पूछताछ और जांच की जा रही है।

बस में चढ़कर पूछ रहे है कोई पुलिस परिवार से है क्या
नेशनल हाइवे से गुजरने वाली बसों में चढ़कर जवान पूछ रहे हैं कि कोई पुलिस परिवार से है क्या। इस दौरान एसआई के साथ चार जवान और महिला पुलिसकर्मी भी बस पर चढ़कर नजर दौड़ाते रहे हैं कि कोई परिवार से तो नहीं। यह देखने के बाद वे बस को आगे बढऩे दे रहे हैं।

घरों के आसपास भी अधिकारी तैनात
थाना के आसपास मौजूद पुलिस के आवासों पर भी अधिकारियों की नजर है। दुर्ग न्यू पुलिस लाइन, भिलाई में पुलिस अवास के सामने बड़ी संख्या में जवानों को तैनात किया गया है। जवानों को जहां माओवादियों के क्षेत्र में तबादला करने से लेकर बर्खास्त करने तक की धमकी दबे जुबान में अधिकारी दे चुके हैं। वहीं पुलिस परिवार में इसकी वजह से कलह बढ़ रहा है।

राजधानी जाना हुआ मुश्किल
सरकार राजधानी में पुलिस परिवार के आंदोलन को लेकर इतनी बेचैन है कि वह पुलिस के परिवार को अगर किसी दूसरे काम से भी राजधानी की ओर जाना है, तो उन्हें रोका जा रहा है। बताया जा रहा है कि कुछ परिवार देर रात ही राजधानी कूच कर गए हैं। इस बात को लेकर अधिकारी कुछ भी कहने से इंकार कर रहे हैं।

सीमावर्ती क्षेत्र पर नजर
पुलिस के अधिकारी सीमावर्ती क्षेत्रों से गुजरने वाली बसों, ऑटो की गहन चेंकिंग कर रहे हैं। यहां तक कि सवारियों की वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है।

साभार पत्रिका.कॉम

advertisement advertisement advertisement advertisement advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close