रायगढ़

आर.टी.ई के तहत आदर्श ग्राम्य भारती में अभिभावकों का विशेश सम्मेलन

किरोड़ीमलनगर। विगत दिवस जिंदल आदर्श ग्राम्य भारती के शिक्षार्थ भवन मे शासन द्वारा संचालित योजना निःशुल्क शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के अंतर्गत दुर्बल वर्ग/वंचित समूह के विभिन्न बच्चों को निःशुल्क शिक्षा मुहैया कराने के उद्देश्य से पालकों का विशेष सम्मेलन आयोजित किया गया। शासन द्वारा अपने इस महत्वपूर्ण योजना का प्रचार-प्रसार जिला स्तर पर आर.टी.ई चैपाल के माध्यम से अनवरत् किया जा रहा है। इसी श्रृंखला में जिन्दल आदर्श ग्राम्य भारती विद्यालय द्वारा किरोड़ीमल नगर में स्थानीय स्तर पर अंचल के किरोड़ीमलनगर (कोकड़ीतराई) के सभी वार्डों, उच्चभिट्ठी, परसदा, मुरालीपाली, पतरापाली, सराईपाली, कोसमपाली आदि गांवो मे इसका प्रचार प्रसार कर आर.टी.ई के तहत् प्रवेश कराने का संदेश दिया गया। इस सम्मेलन में उक्त शहरी/ग्रामीण क्षेत्रों के लगभग 62 पालकों ने भाग लिया व उन्होने शासन की इस योजना के लाभ की प्रशंसा की। उक्त अवसर पर श्री विजय कुमार अग्रवाल ,अध्यक्ष ग्राम्य भारती शिक्षण एवं शोध संस्थान ने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि बच्चे राष्ट्र की अनमोल सम्पति होते हैं। शिक्षा किसी भी व्यक्ति एवं समाज के समग्र विकास तथा सशक्तिकरण के लिए आधारभूत मौलिक अधिकार है।
आज लगभग 135 देशों ने अपने संविधान में शिक्षा को अनिवार्य कर दिया है तथा दुर्बल/वंचित समूह केे बच्चों को मुफ्त तथा भेदभाव रहित शिक्षा देने का प्रावधान किया गया है। संविधान मंे उल्लेखित व शासन द्वारा संचालित शिक्षा के अधिकार का अनुपालन करते हुए हमारा विद्यालय प्रथम प्रवेशित कक्षा में छात्रों की कुल दर्ज संख्या का 25 प्रतिशत प्रवेश दुर्बल/वंचित समूह केे बच्चों को आर.टी.ई. के तहत् प्रवेश देने हेतु प्रयासरत है। इस हेतु हमारे विद्यालय के शिक्षक आस-पास के गाँवों मे जाकर ऐसे परिवारों से संम्पर्क कर रहे हैं जो आर्थिक विपन्नता से जूझ रहे हैं तथा जिनके घरों मे ऐसे बच्चे उपलब्ध हो जो इन मापदण्डों को पूर्ण करते हों।
विद्यालय के प्राचार्य श्री सतीश कुमार पाण्डेय ने अपने उद्बोधन में कहा कि आर.टी.ई. का सर्वाधिक लाभ श्रमिकांे के बच्चे, बाल मजदूर, प्रवासी बच्चे या फिर ऐसे बच्चे जो सामाजिक, सांस्कृतिक ,आर्थिक ,भौगोलिक ,भाषाई, दिव्यांग अथवा लिंग कारकों की वजह से शिक्षा से वंचित बच्चों को मिलेगा।
विद्यालय के उप-प्राचार्य व आर.टी.ई. प्रभारी श्री संजय कुमार शर्मा ने विद्यालय में आर.टी.ई. प्रवेश के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि इस विद्यालय में कक्षा नर्सरी हिन्दी एवं अंग्रेजी माध्यम में 20-20 सीट रिक्त है तथा कक्षा- पहली हिन्दी एवं अंग्रेजी माध्यम में 30-30 सीट रिक्त है। इस हेतु रिक्त सीट के लिए अब तक कुल 44 आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिसमें नर्सरी में 31 व पहली कक्षा में प्रवेश हेतु 12 (हिन्दी एवं अंग्रेजी माध्यम) कुल 43 आवेदन पत्रों को आॅनलाइन कर दिया गया है। विद्यालय के तीनों भवनों क्रमशः शिक्षार्थ ,विद्यार्थ व ज्ञानार्थ में आॅनलाइन आवेदन करने की सुविधा उपलब्ध की गई है। इच्छुक पालक दिनांक 26.05.2018 तक प्रातः 10 बजे से संध्या 5 बजे तक विद्यालय मे उपस्थित होकर आॅनलाइन फार्म भर सकते है। यह विद्यालय सतत् उक्त योजना के तहत् प्रवेश देने के लिए तत्पर है। इसके साथ ही उपस्थित सभी अभिभावकों का संजय कुमार शर्मा (उप-प्राचार्य) द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close