धर्म

देश भर में महाशिवरात्रि की धूम, जानिए क्या है मान्यता, कैसे करें भगवान शिव को प्रसन्न ?

नई दिल्ली: देशभर में आज धूमधाम से महाशिवरात्रि मनाई जा रही है. शिव मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की भीड़ लगनी शुरू हो गई है. इस बार महाशिवरात्रि आज और कल दो दिन मनाई जा रही है. दोनों ही दिन भक्त भोलेनाथ का जलाभिषेक कर सकते हैं. महाशिवरात्रि की रात हिंदू धर्मग्रंथों में बेहद महत्वपूर्ण है.

 

महाशिवरात्रि को मनाने के पीछे क्या मान्यता है?

महाशिवरात्रि हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार है. मान्यता है कि आज ही के दिन भगवान शिव का देवी पार्वती के साथ विवाह हुआ था. महाशिवरात्रि फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है. 13 जनवरी को पूरे दिन त्रयोदशी तिथि है और मध्यरात्रि में 11 बजकर 35 मिनट से चतुर्दशी तिथि लग रही है. ऐसे में महाशिवरात्रि आज भी मनाई जा रही है और कल भी मनाई जाएगी

 

महाशिवरात्रि का अर्थ?
महाशिवरात्रि शब्द का अर्थ है महा कल्याणकारी रात्रि, शिव का अर्थ है कल्याण और तिथियों में चतुर्दशी के स्वामी है शिव जी. शास्त्रों के मुताबिक, इसका बड़ा महत्व है. इस महत्व से संबंध महाशिवरात्रि का व्रत है जो कि फाल्गुन की कृष्ण चतुदर्शी तिथि को किया जाता है. बता दें कि प्रदोश काल रात्रि का आरंभ यानि अर्धरात्रि और निशीथ काल के दौरान महाशिवरात्रि का व्रत किया जाता है. इस विधि से श्रृद्धा और विश्वास से जो लोग व्रत और जप, ध्यान, साधना करते है उन्हें भगवान शिव की कृपा प्राप्त होती है.

 

वरदान कैसे पूरा होता है?
इसका बिल्कुल ये अर्थ नहीं है कि आप जो इच्छा करेंगे वो पूरी हो जाएगी. जब तक कोई व्यक्ति गहन ध्यान साधना नहीं करता है तब तक बैठे बिठाए किसी की मनवांछित इच्छाएं पूरी नहीं होती हैं. इसके लिए आपको साधना करनी चाहिए.
भगवान शिव की पूजा में कुछ हो या ना हो ध्यान अवश्य होना चाहिए और (ऊं) की साधना भी करनी चाहिए. ऊं के जप से नाद स्वर की उत्पत्ति होती है. आज के दिन भक्तों को शिव जी और मां पार्वती को याद करना चाहिए क्योंकि ये रात सृष्टि के प्रारंभ की रात है. यहां से सृष्टि का उदय होना शुरू होता है. इसमें बेहद महत्वपूर्ण है महाशिवरात्रि की साधना.

आपको बता दें कि इस दिन हर व्यक्ति का गुरुमंत्र अलग होता है और जो कान में कहा जाता है वो शक्ति पात्र होता है. आज के दिन गुरु लोग मंत्र देते है या फिर शिष्य अपने गुरु से दीक्षा प्राप्त करते है. ये दीक्षा, साधना, गुरुमंत्र की रात है. यह स्वास्थ संबंधी कष्टों को काटने की रात है और ये आत्मा की शुद्धि की रात है. क्योंकि आत्मा और संस्कार के शुद्ध हुए बिना आपको कभी भी पाप से मुक्ति नहीं मिलेगी. यह दुर्भाग्य को काटने की रात है.

 

कैसे शिवलिंग की पूजा करें?
स्फटिक के शिवलिंग के अभिषेक से धन और यश की कमी दूर होती है. इसलिए स्फाटिक की शिवलिंग स्थापित करें. इसके लिए ऊं नम: शिवाय के मंत्र का जाप कीजिए तीन से चार घंटे बैठकर और अभिषेक करते रहिए. फिर अन्न से, फल से, जल से, घी से, भस्म से और दूध से शिवलिंग का अभिषेक करें. अगर आप नियमित रुप से यह अभिषेक करते है तो आपको बहुत सारे फलों की प्राप्ति होती है. योग और साधना करने से मनवांछित फल की प्राप्ति होगी.

बता दें कि गंगाजल कोई भी हो बस वह शुद्ध होना चाहिए इस जल से आप स्नान कराएं फिर स्नान कराने के बाद चंदन लगाइए. चंदना लगाने के साथ ही फूल और बेलपत्र अर्पित करें इसके बाद धूप या फिर दीप से भगवान शिव का पूजन करें. आप घर में शिवलिंग स्थापित कर सकते हैं. शिवलिंग की जो योनी नाली उत्तर दिशा की ओर रखें और अभिषेक करते समय अपना मुंह भी उत्तर की तरफ रखें.
आज राशि का क्या है चक्र, जानें
मेष राशि- ये दिन आपके लिए काफी अच्छा है साथ ही कुछ बाधाएं जरुर है लेकिन फिर भी वह बाधाएं दूर होंगी और आप तरक्की करेंगे.
सावधानी- स्वास्थ की दृष्टि से सावधान रहे, भोजन सोच-समझ के कीजिए क्योंकि कोई भी व्यक्ति आपको धोखा दे सकता है. थोड़ा सा सावधानी बरतनी होगी और इस दिन मंगल कार्य ना करे तो अच्छा होगा.

उपाय- ऊं नम: शिवाय का जप करने के बाद कुछ चावल अपनी जेब में रखकर फिर अपने दिन की शुरुआत करें. आपको मंगल कार्य में लाभ होगा.

वृषभ राशि- आपके लिए आज का दिन अच्छा है. इस दिन आप मेहनत करेंगे तो आप को लाभ मिलेगा. आप पर कुछ परेशानियां है और थोड़े कष्ट हैं. इसी दौरान आप ज्यादा भावुक महसूस करेंगे और इसकी वजह से आपको कुछ काम जबरदस्ती करने पड़ सकते है. आप के लिए आज का दिन आगे बढ़ने के लिए दिन अच्छा है.
सावधानी- आपको स्वास्थ्य और रिश्तों के प्रति सावधान रहने की जरुरत है.
उपाय- आप आज थोड़ा लो-प्रोफाइल रहे. अपने काम से काम रखे कोई मिले तो हंस दें फिर काम में लग जाए. आप काम के वक्त बातचीत नहीं करें साथ ही चावल का दान जरुर करें.
मिथुन राशि- आज आप कुछ नया काम करिए, मेहनत करिए और इसी के चलते रुके हुए काम को आप आगे बढ़ा सकते है. इस दिन मेहनत के बहुत अच्छे परिणाम मिलेंगे.
सावधानी- इस दिन आप रुपये कहीं निवेश ना करें तो आप के लिए ज्यादा अच्छा होगा. आपको गृहस्थी में कुछ परेशानी आ सकती है. अगर आप यात्रा पर जा रहे है तो स्वास्थ्य और धन का जरुर ध्यान रखें.
उपाय- सुपारी या फिर दो लौंग लेकर इनको मां दुर्गा के चरणों में अर्पित कीजिए. यदेुम नम: दुर्गाय का जप कीजिए.
कर्क राशि- आप आज कुछ नया और बेहतर करेंगे लेकिन सावधानी से क्योंकि कुछ लोग आप से नाराज़ है और हो सकता है आप का कुछ नुकसान करें.
सावधानी- जो बोले सोच समझकर बोले, किसी की निंदा नहीं करें और यदि कोई बड़ा निर्णय ले तो उससे पहले घरवालों से पूछ लें.
आप आख मूंद कर किसी पर विश्वास ना करें.
उपाय- ऊं नम: शिवाय का जप करें और अपने काम पर जुट जाए.
सिंह राशि- आपका आज का दिन अच्छा है. इस दिन आप खूब मेहनत करें. किसी की मदद करने से आपका मन बहुत प्रसन्न हो सकता है.
सावधानी- कुछ लोग आप का दिन खराब कर सकते है. दूसरी बात पांव और कमर का ख्याल रखें.
उपाय- सूर्य को जल दीजिए और अपने काम पर जुटिए.
कन्या राशि- इस दिन खूब मेहनत से अपने कार्य कीजिए और थोड़ा लो-प्रोफाइल रह कर काम करें. कोई बात या फिर चिंता आपको परेशान कर सकती है.
सावधानी- धन के लेन-देन में सावधानी रखें. जो कार्य आप कर नहीं सकते हैं उसका वादा मत करें और झूठी गवाही बिलकुल मत दें.
उपाय- ऐसे लोगों के साथ रहे जो सकरात्मकता से भरे हो. मीठे चावल का दान करें और अगर मीठे चावल नहीं पका सकते तो चावल और चीनी का दान करें. उसके बाद ऊं नम: शिवाय के साथ अपने काम पर जुट सकते है.
तुला राशि- आप के लिए आज के दिन बहुत संभल के चलने वाला हैं और आपको स्वास्थ्य और रिश्तों की दृष्टि से समस्या हो सकती है लेकिन ये दिन बुरा नहीं हैं. आपका भाग्य कमजोर बना रहेगा और आपको कोई बड़ा नुकसान नहीं होगा.

सावधानी- कोई घटना आप के साथ घट सकती हैं. वाहन चलाते समय या फिर सड़क पर चलते समय सावधानी से चले.
उपाय- ऊं रुद्राय नम: का जप करें.
वृश्चिक राशि- आपके लिए आज का दिन स्वास्थ्य की दृष्टि से अच्छा नहीं है. घर के बुजुर्गों की दृष्टि से भी कमजोर है इसलिए वक्त का समय पर सही इस्तेमाल करें और अपने घर के लोगों का ध्यान भी रखें. आप रुकिए नहीं कार्य करते रहिए इसी से आपको आज सफलता मिलेगी.
सावधानी- इस दिन झूठा वादा ना करें और किसी को उधार ना दें.
उपाय- लाल मसूर की दाल दान करें.
साभार एबीपी न्यूज

advertisement advertisement advertisement advertisement advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close