छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़: कई वारदातों में शामिल नक्सलियों का सहयोगी गिरफ्तार

रायगढ़ टॉप न्यूज 21 नवंबर । दंतेवाड़ा: कुआकोंडा ब्लॉक के कई वारदातों में शामिल जनमिलिशिया सदस्य को पुलिस ने आंध्रप्रदेश से गिरफ्तार किया है. एक लाख रुपए का इनामी नक्सली करीब छह माह से आंप्र में छिपा था. मुखबिर की सूचना पर फोर्स उसे गिरफ्तार कर लाई है. पुलिस को उम्मीद है कि उससे पूछताछ में और भी कई खुलासे होंगे.

कुआकोंडा के बड़ेगुडरा कवासी पारा निवासी 22 वर्षीय जनमिलिशिया कमांडर बामन उर्फ चमन पिता लिंगा कवासी को आंप्र से गिरफ्तार किया गया है.

एएसपी नक्सल जीएन बघेल के मुताबिक मुखबिर की सूचना पर फोर्स आंप्र गई थी. जहां हुस्नाबाद जिला खम्मम के समुद्र कैंप में नक्सली छिपा था. उस पर छग सरकार के पॉलिसी अनुसार एक लाख रुपए का इनाम था. पुलिस के मुताबिक नक्सलियों नक्सली कमांडर विनोद, जगदीश, देवा, मिडकोम, मंगतू, आयतु, कोसा आदि के साथ मिलकर वारदातों को अंजाम दिया है. क्षेत्र में पुलिस का दबाव बनने से वह आंप्र में जाकर छिप गया था.

पुलिस विज्ञप्ति के अनुसार बामन कवासी 28 जुलाई को एटेपाल के पास पुलिस पार्टी पर फायरिंग की थी. तब फोर्स नक्सली स्मारक तोड़कर लौट रही थी तब डोंगरीगुड़ा-जियाकोरता जंगल के रास्ते में टिफिन बम लगाकर फायरिंग में शामिल था.

इसके अेलावा 11 अप्रैल 2016 को बड़ेगुडरा- कनकी पारा, 14 जनवरी 2017 को धनीकरका- सूरनार जंगल, 4 फरवरी 2017 को डुवाली करका- गायतापारा जंगल में फोर्स पर फायरिंग किया था. उस पर यह भी आरोप है कि 26 फरवरी 2017 को मोखपाल- जरीपारा में पुल निर्माण में लगे मिक्सर मशीन में आगजनी की थी.

वहीं 1 फरवरी 2017 की रात धनीकरका- बुरदीकरका के ग्रामीणों के साथ मारपीट कर डुवालीकरका जंगल के अंरंग कोटुक जंगल ले गए थे. जहां सीआरपीएफ में भर्ती के लिए आवेदन देने वाले युवा श्यामोराम की हत्या कर दी थी. पुलिस इसके अलावा अन्य मामलों भी बामन कवासी की तलाश कर रही थी.

Tags
advertisement advertisement advertisement advertisement advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close