मनोरंजन

गडकरी ने पद्मावती के मेकर्स को हद में रहने की दी सलाह

रायगढ़ टॉप न्यूज। भंसाली की फिल्म पद्मावती की प्रस्तावित रिलीज डेट नजदीक आते ही विवाद चरम पर पहुंचता जा रहा है. सिनेमाघर जलाने, जान से मारने और हिंसा फैलाने की धमकी दी जा रही है. यूपी सरकार ने भी विवाद को लेकर दावा कि लोगों में गुस्सा है. निकाय चुनाव के मद्देनजर यूपी में फिल्म रिलीज होने से अशांति फैल सकती है. इस बीच मेरठ में एक राजपूत नेता ने संजय लीला भंसाली के खिलाफ फरमान जारी किया. उसने कहा, जो भंसाली का सिर काट कर लाएगा उसे पांच करोड़ इनाम मिलेगा. ये फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होनी प्रस्तावित है. लेकिन फिल्म के सिनेमाघर तक पहुंचने में तकनीकी संकट भी सामने आ रहे हैं.

तो नहीं रिलीज हो पाएगी पद्मावती: फिल्म 1 दिसंबर को नहीं रिलीज हो सकती. कुछ रिपोर्ट्स की मानें तो अभी तक मेकर्स ने सेंसर के पास फिल्म नहीं भेजी है. नियमों के मुताबिक, रिलीज से 15 दिन पहले फिल्म को सेंसर के पास भेजना होता है. सूत्रों की मानें को फिल्म की पहली कॉपी का काम पूरा नहीं हुआ है. जिस वजह से इसे सेंसर के पास नहीं भेजा जा सका है. रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि नियम का पालन हुआ तो फिल्म प्रस्तावित तारीख पर रिलीज नहीं होगी. क्योंकि प्रस्तावित तारीख पर रिलीज के लिए फिल्म भेजने की अवधि खत्म हो गई है. हालांकि कुछ दिन पहले फिल्म के मेकर्स की तरफ से जारी बयान में दावा किया गया था कि फिल्म सेंसर के पास भेज दी गई है.

शादी कार्ड पर भावुक कविता से फिल्म का विरोध : सुरेन्द्र सिंह पंवार नाम के दूल्हे ने अपनी शादी के कार्ड्स में पद्मावती के सम्मान और फिल्म के विरोध के स्लोगन लिखवाए हैं. सुरेन्द्र सिंह की शादी 23 नवंबर को होनी है. कार्ड में पहले पद्मावती का ​बहिष्कार करने की अपील की गई है. इसके बाद रानी के अदम्य साहस और जौहर पर 4 लाइनों में कविता लिखी है. कविता में कहा गया है- ‘इक रानी की बात नहीं, पद्मिनी हो या जोधा कहें, फिल्माने की बात नहीं, ​बात सिर्फ है स्वाभिमान की, सत्य सनातन वो ज्योति, उसपे बात करे कोई तो, हमसे सहन नहीं होती.’ कविता के बाद लिखा है कि रानी पद्मावती का अपमान नहीं सहेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close