मनोरंजन

पद्मावती: चित्तौड़गढ़ में बवाल, किले का गेट किया बंद

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर विरोध का स्वर तेज ही होता जा रहा है। पद्मावती का विरोध करने वाले संगठन करणी सेना ने पहले दीपिका की नाक काटने की धमकी दी।

रायगढ़ टॉप न्यूज। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर विरोध का स्वर तेज ही होता जा रहा है। पद्मावती का विरोध करने वाले संगठन करणी सेना ने पहले दीपिका की नाक काटने की धमकी दी। फिर विरोधियों ने भंसाली और दीपिका का सिर काटने वाले को 5 करोड़ रुपये इनाम देने की घोषणा कर दी। अब इस बवाल का असर चित्तौड़गढ़ के किले पर पड़ा है। प्रदर्शनकारियों ने चित्तौड़गढ़ किले के गेट को बंद कर दिया है। किला घूमने आए हर सैलानी को किले के गेट से ही लौटा दिया जा रहा है। चित्तौड़गढ़ में बंद का ऐलान कर दिया गया है। उधर, धमकी के मद्देनजर मुंबई में ऐक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

एक दिसंबर को रिलीज होने जा रही भंसाली की फिल्म पद्मावती पर ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ का आरोप लगाया जा रहा है। इस फिल्म में दीपिका पादुकोण मिथकीय पात्र मानी जाने वाली रानी पद्मावती का किरदार अदा कर रही हैं। इस फिल्म ने राजनीति रंग ले लिया है। करणी सेना ने दीपिका को सीधे चुनौती देते हुए कहा है कि उन्हें भड़काने की बुरी कीमत चुकानी पड़ेगी। बीजेपी भी पद्मावती फिल्म के विरोधियों के साथ खड़ी हो गई है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार सर्वोच्च नहीं है।

उधर, चित्तौड़गढ़ में प्रदर्शन कर रही सर्व समाज प्रॉटेस्ट कमिटी का कहना है कि चित्तौड़गढ़ किले के पद्न पोल नाम के गेट को बंद कर दिया गया है। गेट आज शाम तक बंद रहेगा और किसी को अंदर किले में नहीं जाने दिया जाएगा। फिलहाल टूरिस्ट सीजन पीक पर है और अक्टूबर के बाद से शुरू होने वाले इस सीजन में औसतन 3000-4000 टूरिस्ट किला देखने आते हैं। प्रॉटेस्ट कमिटी के एक सदस्य केके शर्मा ने बताया कि किले के सामने 400-450 लोग धरने पर बैठे हैं।

कमिटी का दावा है कि आजादी के बाद से ऐसा पहली बार हुआ है कि किले में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। मौके पर किसी भी अनचाही स्थिति से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है। प्रदर्शनकारियों ने कहा है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो प्रदर्शन को उग्र कर दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close