व्यापार

पेट्रोल के दाम के साथ बढ़ती जा रही है आम आदमी की मुश्किलें

महंगे होते पेट्रोल ने बढ़ाई आम आदमी की मुश्किल, थोक महंगाई दर 6 महीने के टॉप पर

रायगढ़ टॉप न्यूज। खुदरा महंगाई दर के 7 महीने के ऊंचे स्तर पर पहुंचने के बाद थोक महंगाई दर में भी भारी बढ़ोतरी देखने को मिली है. अक्टूबर महीने में थोक महंगाई दर 6 महीने के टॉप पर पहुंच गई है. अक्टूबर में थोक महंगाई 3.59 फीसदी रही. सितंबर में यह आंकड़ा 2.6 फीसदी पर था. थोक महंगाई दर में बढ़ोतरी के लिए खाद्य और पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें बढ़ने को जिम्मेदार माना जा रहा है.

वाण‍िज्य मंत्रालय की तरफ से जारी डाटा के मुताबिक फूड उत्पादों की दर बढ़कर 3.23 फीसदी पर पहुंच गई है. सितंबर में यह 1.99 फीसदी के स्तर पर थी. अक्टूबर महीने में वेजिटेबल इंडेक्स 19.9 फीसदी के स्तर पर पहुंचा है.

थोक महंगाई सूचकांक (डब्लूपीआई) के प्रमुख उत्पाद अक्टूबर महीने में 3.33 फीसदी पर पहुंचे. सितंबर महीने में ये 0.15 फीसदी की दर पर थे.  प्रमुख उत्पाद अथवा प्राइमरी आर्ट‍िकल्स पूरे डब्लूपीआई का पांचवां हिस्सा होते हैं. प्राइमरी आर्टिकल्‍स में खाने-पीने की चीजें होती हैं. थोक महंगाई में इनका वेटेज 22.62 फीसदी होता है. कमोडिटी इंडेक्स की बात करें, तो मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स इंडेक्स 0.26 फीसदी पर रहा.

अक्टूबर महीने में महंगाई बढ़ने की सबसे बड़ी वजह खाने-पीने की चीजों का महंगा होना रहा. पिछले महीने फूड आर्ट‍िकल्स की महंगाई  बढ़कर 4.30 फीसदी हो गई. सितंबर में यह 2.04 फीसदी के स्तर पर थी.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close