रायगढ़

जंगली सुअर का शिकार करने वाले दो शिकारी पकड़ाए, रायगढ़ वन परिक्षेत्र का मामला

रायगढ़ टॉप न्यूज 22 जुलाई। वन परिक्षेत्र रायगढ़ के बरलिया क्षेत्र के जंगल में करंट तार बिछा कर वन्यप्राणियों का शिकार किया जा रहा है। जहां आज वन अमला ने जंगली सुअर का शिकार करने वाले दो लोगो को हिरासत में ले लिया है और मामले में पूछताछ कर आगे की कार्रवाही की जा रही है।

इस सबंध में मिली जानकारी के मुताबिक रायगढ़ रेंज के बरलिया निवासी भोखा उर्फ दशरथ व फागु लाल राठिया करीब दो दिन पहले जंगली सुअर का शिकार करने के लिए जंगल मे करंट तार बिछा दिए और जंगली सूअर का उन्होंने शिकार किया। इसके बाद मामले की जानकारी डिफ्टी रेंजर राजेस्वर मिश्रा को लगी तो उन्होंने तत्काल मामले की सूचना अपने उच्च अधिकारियों को देते हुए आगे की कार्रवाही के लिए जांच पड़ताल शुरू किया। इसके बाद उनके द्वारा मौका मुआयना किया गया। तब या जानकारी हुई कि शिकारियों ने जंगली सुअर के अलावा करीब दो किलो का एक कोटरी शावक का भी शिकार किया और उसे खा गए। इसके बाद डिफ्टी रेंजर बरलिया निवासी भोखा उर्फ दशरथ व फागु लाल राठिया के घर मे दबिश देते हुए जांच पड़ताल किये तो वहां से जंगली सुअर का मांस मिला ,जिसे जब्त कर लिया गया। दोनो ही आरोपियों को हिरासत में ले कर पूछताछ की जा रही है। फिलहाल मामले में वन्यप्राणी सरंक्षण अधिनियम के तहत करवाही की जाएगी।

बीटगार्ड की लापरवाही उजागर
विभागीय जानकारों की माने तो इसमे सबसे बड़ी लापरवाही वहां के बीटगार्ड की बताई जा रही है। शिकारी लगातार जंगल मे जा कर करंट प्रवाहित तार बिछा कर शिकार कर रहे हैं और बीटगार्ड को पता ही नही चल पाता। इससे यह भी माना जा रहा है कि बीटगार्ड जंगल भ्रमण नही करते हुए अपने मुख्यालय नियमित रूप से नही जा रहे हैं। यही कारण है कि संबलपुरी में एक दूसरे मामले में वन्यप्राणियों के लिए बिछाए गए तार की चपेट में आकर एक ग्रामीण की मौत हो गई। इसके बाद भी विभाग के बड़े अधिकारी ऐसे लापरवाह कर्मचारियों को सरंक्षण दे रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close